अखिल भारतीय ब्राह्मण सम्मेलन मार्च को जयपुर में
 

देशभर के ब्राह्मण संगठनों का होगा जमावडा, राष्ट्र हित में ब्राह्मणों की भूमिका तय होगी समारोह में


जयपुर। सर्व ब्राह्मण महासभा द्वारा 10वां राष्ट्रीय स्तर का ‘‘अखिल भारतीय ब्राह्मण सम्मेलन’’ आगामी 1-2 मार्च को जयपुर में बिडला ऑडिटोरियम में आयोजित किया जायेगा। सर्व ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं. सुरेश मिश्रा ने बताया कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में राष्ट्रीय स्तर के इस ‘‘अखिल भारतीय ब्राह्मण सम्मेलन’’ में देशभर के लगभग 2000 प्रतिनिधि हिस्सा लेगें, जिसमें प्रमुख राजनैता, उधोगपति, चिकित्सक, समाज सेवी, कलाकार, कलाविध, खिलाडी संत-महंत एवं प्रबुद्ध ब्राह्मण वर्ग को आमंत्रित किया गया है। इस सम्मेलन का मुख्य उद्देष्य राष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक, राजनीतिक, आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक रूप से सक्रिय ब्राह्मणों को एक मंच पर लाकर आज के परिवेश एवं परिस्थितियो में ब्राह्मण की भूमिका एवं समाज में उनके योगदान पर चिंतन होगा।

इस सम्मेलन में ब्राह्मण प्रतिष्ठा की पुर्नस्थापना, सर्व समाज का मार्गदर्षन, वेद, कर्मकाण्ड, ब्राह्मण परम्परा, काॅरपोरेट वल्र्ड में ब्राह्मणों का भविष्य व ब्राह्मण युवाओं की दशा व दिशा पर भी चर्चा होगी। इस भव्यतम समारोह में सम्पूर्ण देशभर के प्रमुख ब्राह्मण संगठन एवं देश-विदेश के अनेक विद्वान अपनी गरिमामय उपस्थिति से सम्मेलन की शोभा बढायेगें। इस ‘‘अखिल भारतीय ब्राह्मण सम्मेलन’’ के माध्यम से राष्ट्र की नवनिर्माण में सषक्त, सार्थक एवं प्रमुख भूमिका ब्राह्मण कैसे निभायें इस पर चर्चा होगी। इस दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन में विभिन्न सत्रों के माध्यम से निकले हुए प्रस्तावों पर ठोस योजना बनाकर उनका क्रियान्वयन कराया जायेगा। कार्यक्रम में जयपुर से भी प्रमुख उधोगपतियों, चिकित्सक, समाज सेवी, कलाकार, खिलाडी एवं संत महन्तो को भी आमंत्रित किया गया है।



मिश्रा ने बताया कि इस भव्यतम आयेाजन को सफल बनाने हेतु एक आयोजन समिति का गठन किया गया है। जिसमें आयोजन समिति के संयोजक दिनेष शर्मा, स्वागताध्यक्ष सौरभ डिडवानियां, स्वागत मंत्री सुरेश उपाध्याय, आयोजन समिति के अध्यक्ष पवन शर्मा पुष्पक, आयोजन सचिव, अनिल जोशी, संगठन महामंत्री पं. मुकेष भारद्वाज, सह-संयोजक सुनिल कुमार शर्मा, विष्णु शर्मा, महामंत्री बी.पी. शर्मा, उपाध्यक्ष संजीव सुरोलिया, समन्वयक श्रवण पारीक एवं सुदेष शर्मा होगें एवं संरक्षक एच.सी. गणेषिया, गोविन्द पारीक व महामण्डलेष्वर मंहत पुरुषोत्तम भारती होगें। महासभा ने यह भी निर्णय लिया है कि 10 लाख घरों में भगवान परशुराम जी का रंगीन चित्र निःशुल्क उपलब्ध कराये जायेगें।