भाई-बहन ने कराया माँ का नेत्रदान





जयपुर। महावीर नगर विस्तार योजना निवासी 62 वर्षीया रीटा जैन का कल सुबह लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। रीटा जी के पति महेंद्र कुमार जैन जी ,नगर निगम के कमिश्नर के निजी सहायक के पद से सेवानिवृत्त हुए थे । उनके निधन के उपरांत  बेटी रेखा और बेटे मनीष ने ही माँ और घर को संभाला । 

 

थोड़े समय पहले से रीटा जी की तबियत ख़राब रहने से बच्चों ने माँ की देखरेख के लिये,अपनी नौकरी छोड़ दी थी । शुक्रवार दोपहर में अचानक तबियत बिगड़ने से उन्होंने देह त्याग दी । इनके चचेरे भाई अरविन्द जैन जी इस दुखः की घड़ी में उनके साथ थे,उन्होंने अस्पताल से पार्थिव शव को घर लाते समय ही दोनों भाई-बहनों से माँ के नेत्रदान करवाने के लिये बात की,और साथ ही शाइन इंडिया फाउंडेशन को भी घर पर पहुँचने के लिये कह दिया। 

 

रेखा व मनीष पहले तो नेत्रदान को लेकर थोड़ा संशय में थे,पर घर पहुँचने तक ही संस्था की टीम भी वहाँ आ पहुँची । एक बार संस्था सदस्यों से ठीक से समझाइश होने के बाद दोनों भाई बहन ने अपनी माँ के नेत्रदान करा दिए ।