ग्राम पंचायत ही देश की सबसे बड़ी संसद – कर्नल राज्यवर्धन

 जयपुर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और सांसद जयपुर ग्रामीण कर्नल राज्यवर्धन द्वारा आज सोमवार को नई दिल्ली में गांवों के विकास एवं समस्या समाधान के उद्देश्य हेतु सरपंच सशक्तिकरण एवं पंचायत विकास कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें पंचायती राज मंत्रालय, भारत सरकार के अधिकारियों ने जयपुर ग्रामीण के ग्राम सरपंचों और प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर कर्नल राज्यवर्धन ने कहा कि यह सुशासन की वर्कशॉप है इसके माध्यम से हम गांवों में बेहतरीन सुशासन ला सकतें है। अगली कार्यशाला का आयोजन जयपुर ग्रामीण में किया जाऐगा।


उन्होंने कहा की  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी देश को मजबूत बनाना चाहते है। जिसकी सबसे महत्वपूण ईकाई गांव है। सबसे पारदर्शी अगर कोई सरकार रह सकती है तो वह गांव की सरकार रह सकती है। क्योकि गांव में जो काम होगा वह सभी को दिखाई देगा। मोदी जी ने कहा था ग्राम सभा गाँव के लिए उतनी ही महत्वपूर्ण है जितनी लोक सभा राष्ट्र के लिए। देश के विकास के लिए ग्राम स्तर पर विकास होना अति आवश्यक है। आम जन के मायने में ग्राम पंचायत ही देश की सबसे बड़ी संसद है। गांव मजबूत होंगे तो देश मजबूत बनेगा। इसी को ध्यान में रखते हुए मोदी जी ने 2014 से गांव के विकास का पैसा सीधे ग्राम पंचायत के खाते में भेजना प्रारम्भ किया।


आज पूरे देश में आधुनिकीकरण हो रहा है कार्यों में पारदर्शिता लाई जा रही है। ग्राम पंचायत के विकास का प्लान सीधे डिजीटल तकनीक के माध्यम से पोर्टल पर लोड हो जाते है जैसे जैसे विकास कार्य आगे बढ़ते है उसका भुगतान भी होता रहता है। देश के गांवों में जो योजनाएं बन रही है उसे प्रत्येक ग्रामवासी और प्रत्येक देशवासी देख सकता है साथ ही योजनाओं में खर्च होने वाली राशि व शेष बची राशि की भी जानकारी मिलती रहती है। मोदी जी पूरे देश में डिजिटलाईजेशन लेकर आए है और इसी से जुडाव के लिए इस वर्कशॉप का आयोजन किया गया है। ग्रामीणों में जागरूकता के लिए इसी प्रकार की कई वर्कशॉप के आयोजन की आवश्यकता है।