नागरिको को ‘‘मौलिक अधिकारो‘‘ के साथ ‘‘मौलिक कर्तव्याें’’ की जानकारी कराए - राज्यपाल

जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि देश के नागरिको को संविधान के ‘‘मौलिक अधिकारो’’ के साथ ‘‘मौलिक कर्तव्यों’’ की भी जानकारी कराना समय की मांग है जो कि संविधान का ही एक महतवपूर्ण हिस्सा है। इसमें पत्रकार एवं लेखक अपनी अहम् भूमिका अदा करे। 

 

मिश्र ने अपने ये उद्गार सोमवार को मुम्बई के गरवारे क्लब के बैक्वेट हाल में राजस्थान प्रेस क्लब, मुम्बई की ओर से ‘‘राजस्थान के विकास में प्रवासी राजस्थानियो का योगदान’’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथी व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि संविधान के प्रति कर्तव्यो का व्यक्तिगत रूप से प्रत्येक नागरिक को पालन करना चाहिए इसी से न केवल राष्ट्र सशक्त होता है बल्कि आम जन का कल्याण भी इसमें निहीत है। वे कार्यक्रम में उपस्थित मुम्बई के प्रवासी राजस्थानी संगठनो के सैकड़ो पदाधिकारियो को सम्बोधित कर रहे थे। 

 

राज्यपाल मिश्र ने कहा कि आज देश भर में राजस्थान के प्रवासी राजस्थानी ऎसे उदाहरण है जो कि अपनी मातृभूमि से दूर रहते हुए भी अपनी जड़ो से पीढ़ियो से जुड़े रह कर अपने क्षेत्र के क्रमबद्ध विकास में भगीदार बने हुए है। उन्होंने अपने सम्बोधन में राजस्थान के श्रेष्ठतम जल संग्रहण, निरोगी राजस्थान, आयुष्मान भारत सहित अनेक लोक कल्याणकारी योजनाओ की प्रशंसा की। साथ ही प्रवासी राजस्थानियो का आहवान किया कि वे इन सरकारी योजनाओ से जुड़ अपने क्षेत्र के लोगों का भला करे। उन्होंने राजस्थान को शौर्य, सौन्दर्य एवं कला का संगम बताया तथा उपस्थित पत्रकारो से अनुरोध किया कि वे राजस्थान आकर प्रदेश के पर्यटन, इतिहास, तीर्थाटन सहित विभिन्न विषयो का अध्ध्ययन कर लिखे ताकि देशवासी राजस्थान की विशेषताओ को जान सके। राज्यपाल ने उपस्थित प्रवासी राजस्थानियो को भारतीय संविधान की शपथ भी दिलाई, प्रियम्बल भी पढाया तथा इसे अधिकाधिक प्रचारित करते अपने व्यवहार में लाने की सलाह दी। राज्यपाल ने मुम्बई के वरिष्ठ प्रवासी राजस्थानी पत्रकार श्री निरन्जन परिहार का बहुमान भी किया।

 

कार्यक्रम को अखिल भारतीय प्रवासी महासंघ के अध्यक्ष राज के. पुरोहित ने भी विशिष्ठ अतिथि के रूप में सम्बोधित किया। इस अवसर पर विशिष्ठ अतिथि प्रमुख प्रवासी समाज सेवी सी. के. सिंघानिया भी उपस्थित थे। राजस्थान मीटरगेज प्रवासी संघ के उपाध्यक्ष सिद्धराज लोढ़ा ने अपने संगठन के 40 वर्षो के प्रवासी राजस्थानियो के लिए किए गए संघर्ष के इतिहास का गौरव ग्रन्थ राज्यपाल को भेट किया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में राजस्थान प्रेस क्लब, मुम्बई के अध्यक्ष नीरज दवे ने सभी का स्वागत किया तथा सचिव कन्हैयालाल खण्डेलवाल ने संगठन का परिचय दिया। कार्यक्रम के समापन पर कार्यक्रम संयोजक निरन्जन परिहार ने आभार व्यक्त किया। राजस्थान प्रेस क्लब के पदाधिकारियो ने राज्यपाल को शाल, साफा, पुष्पगुच्छ एवं स्मृति चिन्ह भेंट भी किया। कार्यक्रम का संचालन सिमरन आहूजा एवं कवि दिनेश्वर माली ने किया।