बुकिंग एजेन्ट योजना में प्रोत्साहन राषि में बढोतरी 

जयपुर। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेषक नवीन जैन ने आज रोडवेज के यातायात विभाग के अधिकारियों के साथ बुकिंग एजेन्ट योजना के द्वारा बुकिंग एजेन्ट नियुक्त करने के सम्बन्ध में जारी दिषा-निर्देषों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होन बताया कि लोगो द्वारा इस सम्बन्ध में सुझाव दिये जा रहे है निजी बसों द्वार एजेन्ट को आकर्षक कमीषन भी दिया जाता है उन्हे बिक्री वृ़िद्ध पर प्रोत्साहन देते है जबकि रोडवेज में इस प्रकार की षिकायत आती रहती है कि रूट आवंटन भी उचित प्रकार नही होता। इस पर अधिकारियों से तथा कुछ मुख्य प्रबन्धको से दूरभाष पर भी चर्चा कर पूरी स्थिति का जायजा लिया। 


प्रबन्ध निदेषक नवीन जैन ने निजी बुकिंग एजेन्ट नियुक्त करने हेतु जारी दिषा-निर्देषों की समीक्षा के बाद निर्देष दिये कि बुकिंग एजेन्टों की मासिक बिक्री की राषि पर 5 प्रतिषत अधिकतम कमीषन देने के साथ 2-5 लाख 2 प्रतिषत, 5-6 लाख 2.25 प्रतिषत, 6-7 2.5 प्रतिषत, 7-8 लाख 2.75 प्रतिषत एवं 8 लाख से अधिक 3 प्रतिषत प्रोत्साहन राषि दी जावे जिससे राजस्थान रोडवेज के लिये बुकिंग एजेन्ट अधिक प्रयास कर राजस्व में बढोतरी करें। राजस्थान रोडवेज के बस स्टेण्ड़ो एवं बस स्टाॅप पर जहां रोडवेज व निजी बुकिंग एजेन्ट नही लगे हुये है वहां निजी बुकिंग एजेन्टों की नियुक्ति की जावे जिससे यात्रीभार बढने के साथ-साथ राजस्व में भी बढोतरी होगी। 


प्रबन्ध निदेषक नवीन जैन ने यह भी निर्देष दिये कि बुकिंग एजेन्ट नियुक्ति के लिये जारी दिषा-निर्देष में नियुक्ति का निर्णय आगार स्तर पर गठित आगारीय कमेटी द्वारा निर्णय के साथ ही मुख्यालय के स्तर पर भी नियुक्ति सम्बन्धी निर्णय किया जावें। रोडवेज कर्मियों के माध्यम से बुकिंग की स्थिति चिन्ताजनक है, इसे सुधारने के लिये निर्देष दिया कि जनवरी, 2020 के आकड़ों का विष्लेषण कर सही बुकिंग टारगेट पूरा नही करने वाले कार्मिको को बदलना चाहिये। 


यहां ये उल्लेखनीय है कि वर्तमान बुकिंग एजेन्ट नियुक्ति दिषा-निर्देष में बुकिंग एजेन्ट को टिकिटो की मासिक बिक्री की राषि पर अधिकतम प्रतिषत 5 प्रतिषत कमंीषन दिया जाता है। साथ ही मुख्य प्रबन्धकों को यह भी निर्देषित किया हुआ है कि आगार स्तर पर एजेन्सी हेतु प्रतिस्पर्धात्मक दरें प्राप्त कर कम दरों पर एजेन्सी स्वीकृत करने का अधिकतम प्रयास करेंगे। बुकिंग एजेन्ट द्वारा प्रतिमाह 2.00 लाख से अधिक राषि पर 2 प्रतिषत प्रोत्साहन राषि कमीषन के अतिरिक्त दिये जाने का प्रावधान है।