एसएमएस अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड का जिम्मा सोना रोबोट ने संभाला

जयपुर। उत्तर भारत के सबसे बड़े सरकारी सवाई मानसिंह अस्पताल में शनिवार से रोबोट 'सोना' ने कोरोना आइसोलेशन वार्ड में मरीजों को सामान पहुंचाने की जिम्मेदारी संभाल ली है। रोबोट को 'सोना' लड़की का नाम दिया है जो कि आइसोलेशन वार्ड में 24 घंटे कोरोना पीड़ित मरीजों को दवाईयां, पानी और भोजन उपलब्ध कराएगी। साथ ही कोरोना पॉजिटिव मरीज को संदेश भी देगी कि आपको बार बार हाथ धोने है, मास्क लगाना है और किसी को छूना नहीं है। 


सोना पूरी आइसोलेशन वार्ड में यही कहती नजर आती है कि मैं आपकी सुरक्षा की कामना करती हूं और मुझे कोरोना नहीं है। मुझे आपकी सेवा के लिए तैनात किया है और मैं 24 घंटे सेवा करने को तैयार हूं। एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्रार्चाय डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि रोबोट का कट्रोल कम्प्यूटर के माध्यम से किया जा रहा है। रोबोट के आने से नर्सिग मेडिकल स्टाफ की जरूरत कम पड़ेगी।