गणगौर पर पहली बार मंचित होगा नाटक "सफेद जवारा" 14 व 15 मार्च को


जयपुर l  नाद संस्था और संगीत नाटक अकादमी दिल्ली की ओर से गणगौर पर्व पर आधारित नाटक "सफेद जवारा" का मंचन 14 व 15 मार्च को शाम 6:30 बजे रविंद्र मंच के मुख्य सभागर में किया जाएगा l संस्था के राजेंद्र शर्मा राजू ने बताया कि राजस्थान की समृद्ध परंपरा रही है और इसमें गणगौर के त्यौहार का विशेष महत्व है l गणगौर पर सुहागिन महिलाएं अखंड सुहाग की कामना के लिए और अच्छे वर के लिए कन्याओं द्वारा गणगौर का पूजन किया जाता है l 



महिलाओं के लिए खास इस नाटक में गणगौर पर्व को लेकर तथा इस हास्य और मनोरंजन से सराबोर नाटक के निर्देशक एवं लेखक अनिल मारवाड़ी ने सफेद जवारा का ताना-बाना इस तरह से बुनकर तैयार किया गया है जिसमे गणगौर के लोकगीत और नृत्य एवं अभिनय का बहुत ही सुंदर ढंग से समावेश किया गया है l नाटक में लगभग 25 से 30 रंग कलाकारों द्वारा अभिनय किया जा रहा है।