ग्रामीण क्षेत्र के भामाशाह भी पीछे नहीं, ग्राम सुनारी के नन्द सिंह राजावत ने की पहल

जयपुर/टोंक। भारत सरकार और राज्य सरकार के आवाहन पर ग्रामीण क्षेत्रों में भी सहयोग के लिए भामाशाह आगे आ रहे हैं। टोंक जिले की निवाई तहसील के सुनारी ग्राम के नन्द सिंह राजावत और उनके भाई जगदीश सिंह राजावत ने जरुरतमंद परिवारों का सहयोग कर रहे हैं। ग्राम पंचायत सुनारा में कोरोना  महामारी के कारण शहर छोड़ कर गांव में आए हुए गरीब और जरूरतमंद परिवारों को तालाबंदी के दौरान खाने  की 30 किटो का वितरण किया गया। 

 

 

समाजसेवी नन्द सिंह राजावत ने बताया कि ग्राम पंचायत सुनारा में कोरोना  महामारी के कारण शहर छोड़ कर गांव में आए हुए गरीब और जरूरतमंद परिवारों को तालाबंदी के दौरान खाने की 30 किटो का वितरण किया गया। कुल 75 पैकेट बांटे जाएंगे। जिसमे अपनी फसल में से अंशदान (21 हजार रुपये) भी दिए। विद्यालयों में भी बच्चों को हर वर्ष राष्ट्रीय पर्व पर मिठाई और फल बाटते है। 

 

इसी मुहिम को आगे बढ़ाने में मेरे बड़े भाई जिला परिवहन विभाग से सेवानिवृत्त जगदीश सिंह राजावत ने सहयोग करते हुए अपनी मासिक पेंशन को तालाबंदी के दौरान जरूरतमंद को खाने की किट उपलब्ध कराने की घोषणा ग्राम पंचायत सुनारा की सरपंच भगवती देवी को की। सरपंच भगवती देवी ने इस राष्ट्रीय आपदा में सहयोग करने के लिए भामाशाह की प्रशंसा की और सभी सम्पन्न लोगों से अपील करते हुए कहा कि आज इससे बड़ा दान और पुण्य नही हो सकता। किट में आटा 10 किलो, चावल आधा किलो, सोयाबीन आधा किलो, मिर्च, हल्दी ,नमक, चना ,दाल मूंग, दाल चीनी, चाय, और साबुन सामग्री शामिल है।