जिला कलक्टर को सौंपी गुल्लक की राषि, कोराना से लड़ाई में बच्चों ने दिखाया जज्बा


जयपुर। कोरोना आपदा के दौरान वंचित एवं कमजोर वर्गों की मदद के लिए कई लोग एवं संगठन रोजाना सामने आ रहे हैं। मंगलवार को जयपुर में हाथी बाबू बाग निवासी तृप्ता (12) और चिराग पुरोहित (10) अपनी महीनों से इकट्ठा कर रही जेबखर्च और बचत की राषि गुल्लक में लेकर जिला कलक्टर को कोराना पीड़ितों की मदद के लिए देने पहुंचे। जिला कलक्टर डाॅ.जोगाराम ने उनके जज्बे की प्रषंसा करते हुए इस राषि को चैक में बदलने के लिए बच्चों के साथ आए दादा को सांैप दिया ताकि इसे कोरोना की व्यवस्थाओं के लिए काम में लिया जाए।



डाॅ.जोगाराम ने बताया कि इस समय सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं, एनजीओ, जनसामान्य एवं अन्य संगठनों द्वारा की जा रही आर्थिक, नैतिक, संसाधनों की मदद बहुत मायने रखती है। इससे न केवल जरूरत मंदों को लाभ मिलता है बल्कि समाज में सकारात्मक संदेष भी जाता है। मंगलवार को जिला कलक्टेªट में अपनी गुल्लक के साथ पहुंचे बच्चों के दादा भी रोजाना 500 लोगों को तैयार खाना बंटवा रहे हैं। जिससे उन बच्चों को भी पे्ररणा मिली।



सूचना प्रौद्योगिकी कर्मियों ने किए  1 लाख 11 हजार रु भेंट



जिला एवं ब्लाॅक कार्यालय सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, जयपुर के सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों ने लाॅकडाउन की स्थिति में समाज के बीपीएल, दिहाड़ी मजदूर, स्ट्रीट वेंडर्स एवं कच्ची बस्तियों में रहने वाले समाज के कमजोर एवं जरूरत मंद परिवारों के लिए एक लाख 11 हजार रूपए की राषि जिला प्रषासन को सौंपी है। एसीपी (उप निदेषक) जिला कार्यालय सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग जयपुर ऋतेष कुमार शर्मा ने बताया कि सभी कार्मिकों ने कोरोना वायरस जन्य आपदा की स्थिति में स्वैच्छिक निर्णय से यह राषि एकत्र की है। इस राषि के कूपन शर्मा ने सोमवार को जिला कलक्टर डाॅ.जोगाराम को सौंपे।