कोरोना के कारण जयपुर के कोचिंग संस्थानों को होगा सौ करोड़ का नुक़सान
जयपुर। कोचिंगों को 30 मार्च तक बंद करने के सरकारी आदेश के चलते जयपुर में चल रहे कोचिंग संस्थानों को सौ करोड़ के नुक़सान का अंदेशा लगाया गया है. राजस्थान प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से नुक़सान की भरपाई की माँग करते हुए आल राजस्थान कोचिंग इंस्टीट्यूट महासंघ ने अकेले जयपुर ज़िले में संचालित कोचिंग मे सौ करोड़ के नुक़सान का आकलन किया है .

आलस राजस्थान कोचिंग इंस्टीट्यूट महासंघ के संयोजक अनीश कुमार ने बताया कि कोरोना के भयावह स्थिति को देखते हुए सभी कोचिगों ने पूर्णतः अवकाश घोषित कर दिया है जिसके चलते छात्र अपने मूल शहरों में लौट गए हैं जिससे कोचिंग के साथ साथ हॉस्टल ,लाइब्रेरी PG तथा विज्ञापन संबंधी व्यवसाय पर बुरा असर पड़ा है .

 

अनीष कुमार ने कहा कि 2019 की शुरुआत से लेकर अभी तक किसी न किसी तरीक़े से जयपुर के कोचिंग व्यवसाय अस्थिर होते रहे हैं . बड़ी मुश्किल से पटरी पर आ रही कोचिंग व्यवसाय को एक महीने तक बंद रखने से सौ करोड़ रुपये का नुक़सान होगा अगरयह अवकाश और अधिक आगे बढ़ता है तो नुक़सान भी आगे बढ़ेगा और कई कोचिंग तो पूर्णत: बर्बाद हो जाएगी

कोचिंग संचालकों ने मकान मालिकों से एक महीने का किराया छोड़ने के लिए निवेदन किया है साथ ही राज्य के मुख्यमंत्री को भी इस संबंध में ज्ञापन देने की तैयारी की जा रही है