कोरोना से बचाव के बारे में आमजन में चेतना जागृत करे - ममता भूपेश
कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति की समीक्षा


 

जयपुर। महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती ममता भूपेश ने कहा कि दौसा जिले में कोरोना पर नियंत्रण के लिये जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारी व कर्मचारी आपसी समन्वय स्थापित कर कार्य करे तथा घर-घर जा कर लोगों का सर्वे करे तथा कोरोना से बचाव के बारे में चेतना जागृत करे। 

 

गुरूवार  को दौसा कलेक्टर के कक्ष में आयोजित कोरोना की समीक्षात्मक बैठक को संबोधित करते हुये महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का पूरा प्रयास है कि प्रदेश के नागरिक इस महामारी के संक्रमण से बचे रहें। उन्होंने कहा कि मंदिर, मस्जिद सहित अन्य धार्मिक एवं सार्वजनिक स्थलों पर लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को एकत्र नहीं होने की सलाह दी जा रही है। मुख्यमंत्री ने निर्देशानुसार राज्य में सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों में 31 मार्च तक तत्काल प्रभाव से अभिभावक एवं टीचर्स मीटिंग (पीटीएम) पर रोक लगवा दी गई है तथा स्कूलों में नए प्रवेश की प्रक्रिया से अभिभावकों एवं बच्चों की उपस्थिति को भी रोक दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में सार्वजनिक एवं सरकारी पुस्तकालयों को भी 31 मार्च तक बंद किए जाने के निर्देश दिए हैं। सभी जिलो में धारा 144 लागू कर दी गई है। 

 

उन्होने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए राज्य में संसाधनों की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। जिला स्तर पर एसडीआरएफ के माध्यम से आइसोलेशन फेसिलिटी, लैब तैयार करने ,आमजन में चेतना जागृत करने, घर घर सर्वे करवाने, बाहर से आने वाले लोगों की जांच करवाने तथा सभी चिकित्सालयों में साफ सफाई के साथ साथ आईसोलेशन वार्ड स्थापित करने आदि सभी महत्वपूर्ण कार्य जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग द्वारा किये जा रहे है। जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग ने जिले में कोरोना से बचाव के लिये सभी आवश्यक तैयारिया पूर्ण करने का कार्य किया है। उन्हाेंने कहा कि जांच के दौरान किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण सामने आने पर ऎसे व्यक्तियों को 14 दिन तक पूरी तरह होम आईसोलेशन में रखा जाएं। इसके अलावा उनके घर के बाहर भी इस संबंध में सूचना चस्पा की जाए ताकि आस-पड़ोस के लोग उनसे नहीं मिले और संक्रमण से बचे रह सकें। 

 

दौसा जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में समस्त चिकित्सा संस्थानों द्वारा कोरोना वायरस से सम्बंधित समस्त प्रोटोकॉल का पालन करने एवं मरीज से मिलने वाले परिजनों, मित्र एवं बच्चों को प्रतिबंधित करने की सलाह दी गयी है।

 

बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वस्थ्य अधिकारी डाॅ .पी एम वर्मा  ने बताया कि जिला मुख्यालय पर श्रीरामकरण जोशी सामान्य जिला चिकित्सालय में कोरोना वेलनेस सेंटर और आईसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। इसमें अलग-अलग वार्डो  में बैड लगाए गए हैं और अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई हैं। वेलनेस संटर्स  में टेबल, कुर्सी, टाॅवल, ब्रूश टूथपेस्ट, सेनेटाईजर, हेयर ऑयल, कंघा आदि सभी दैनिक रूप से जरूरी चीजें रखी गई हैं। 

 

सेनिटाईजेशन और सोडियम हाईपोकलोराइट का स्प्रे

 

उन्हाेंने बताया कि सभी सार्वजनकि  स्थानों, र्धामिक स्थलों, सरकारी कार्यालयों आदि में सेनिटाईजेशन और सोडियम हाईपोकलोराइट का स्प्रे करवाया जा रहा है। इसके लिए विभाग बडी स्प्रे मशीनों का उपयोग कर रहा है ताकि अधिक क्षेत्र को संक्रमण से बचाया जा सके। बैठक में दौसा जिला पुलिस अधीक्षक प्रहलाद सिंह कृष्णिया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।