प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना नियंत्रण समीक्षा के लिए राज्य स्तर से दल भेजे जाएंगे

प्रत्येक जिले में जिला प्रभारी जाकर आवश्यक व्यवस्था करेंगे सुनिश्चित   



जयपुर। प्रदेश में कोरोना के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए राज्य स्तर से की जा रही गतिविधियों की मॉनिटरिंग के लिए जिला प्रभारी शुक्रवार से संबंधित जिलों में जाएंगे। जिलों के लिए नियुक्त ये प्रभारी अधिकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी इंफेक्शन कंट्रोल प्रोटोकॉल के अनुसार निर्धारित गतिविधियों की मॉनिटरिंग करेंगे। 


स्वास्थ्य भवन में हुई समीक्षा बैठक में केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के रूप में आए रक्षा विभाग के संयुक्त सचिव श्री राजीव ठाकुर ने जिलों में जाने वाले जिला प्रभारियों का निर्देश देते हुए कहा कि सभी जिला प्रभारी अपने-अपने जिलों में जाकर लोगों को कोरोना से बचने के लिए जागरूक करें। लोगांे को भीड़भाड़ में जाने से बचने की सलाह दें। इस कार्य में स्वयंसेवी संगठनों की मदद ली जा सकती है। उन्होंने कहा कि प्रभारी सिविल नागरिक सुरक्षा स्वयं सेवक, पूर्व सैनिक और पेंशनर्स तीनों तबकों की मदद लेकर कोरोना के प्रति जागरूकता ला सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में चिकित्सक, नर्सिंग कर्मियों पर काम का काफी दबाव है, उन्हें भी मोटिवेट करें।


राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक नरेश कुमार ठकराल ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज सबसे कमजोर कड़ी हैं, उन्होंने कहा कि सभी जिला प्रभारी उन्हें मॉनीटर करें। उन्होंने कहा कि आमजन के बीच में ना जाएं और कम से कम लोगों से मिले ताकि संक्रमण ना फैले। उन्होंने बताया कि क्वारंटाइन सुविधाओं के लिए सभी जिलों में आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं।

घरों का सर्वे व्यापक स्तर पर
अब भी तक 10 लाख 97 हजार 34 घरों का सर्वे कर 43 लाख 70 हजार 841 लोगों से संपर्क कर स्क्रिनिंग की गई है। प्रदेश भर में चिकित्सालयों में 42 और होम आइसोलेशन में  1 हजार 617 तथा 290 व्यक्ति क्वारंटाइन में हैं।