पुलिस मुख्यालय द्वारा कोरोना वायरस से बचाव के संबंध में दिशा-निर्देश जारी


जयपुर। महानिदेशक पुलिस भूपेन्द्र सिंह के निर्देश पर पुलिस मुख्यालय द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के संबंध में पुलिसकर्मियों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं पुलिसकर्मियों से सजग एवं सावधानीपूर्वक अपनी ड्यूटी को अंजाम देने के साथ ही कोरोना के संबंध में सर्तकता बरतने एवं दिशा-निर्देशों की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।
इन निर्देशों के अनुसार पुलिसकर्मियों को तुरन्त प्रभाव से अग्रिम आदेशों तक ब्रेथ एनालाइजर का उपयोग नहीं करने के निर्देश दिये गये हैं। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए केवल परिवादी से ही व्यक्तिगत मुलाकात की जाये। बुजुर्ग, बीमार एवं महिला परिवादिया होने की स्थिति में उनके सहायतार्थ एक व्यक्ति को साथ में मिलने की अनुमति दी जा सकती है। मीटिंगों का आयोजन कम से कम करने के साथ ही कार्यालयों में ली जाने वाली मीटिंग विडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के द्वारा ली जाए। अधिक संख्या में कर्मचारियों को बुलाये जाने वाली मीटिंगों का आयोजन कुछ समय के लिए टाला जाए।



इन दिशा-निर्देशों के अनुसार आवश्यक परिस्थितियों को छोडकर राजकीय यात्राऐं नहीं की जाए। कार्यालयों द्वारा आपस में किये जाने वाले पत्राचार यथासंभव ई-मेल द्वारा ही किये जाए तथा अति आवश्यक होने पर ही पत्रावली एवं दस्तावेज कार्यालयों में भिजवाया एवं मंगवाये जाए। कार्यालयों को प्राप्त एवं प्रेषित की जाने वाली डाक को कार्यालय की बिल्डिंग के प्रवेशद्वार पर ही लिया जाए तथा कार्यालय भवन के प्रवेश द्वारा पर सेनेटाईजर रखे जाए।



साथ ही यह भी निर्देश दिए गए हैं कि विभाग द्वारा संचालित सभी मनोरंजन केन्द्र, जिम, स्वीमिंग पूल एवं क्रेच को आगामी आदेशों तक तुरन्त बन्द करा दिया जाए। जीआरपी, यातायात एवं अस्पतालों की चौकियों पर पदस्थापित व कार्यरत पुलिस कर्मियों का पर्यटकों, बीमार व्यक्तियों एवं अन्य आमजन से निरन्तर सम्पर्क बना रहता है, अतः उनसे और अधिक सावधानी एवं सतर्कता बरतने का आग्रह किया गया है। सभी तरह की विभागीय पदोन्नति परीक्षाऐं (लिखित एवं आउटडोर),  निरीक्षण तथा  सोमवार व शुक्रवार को होने वाली परेड एवं सम्पर्क सभाओं को अग्रिम आदेशों तक तुरन्त स्थगित करने के भी निर्देश जारी किये गए हैं।
दिशा-निर्देशों के अनुसार पुलिसकर्मियों को अनावश्यक पब्लिक के सीधे सम्पर्क में नहीं आने, अपने कार्यस्थल को स्वच्छ रखने, समस्त कार्मिकों को साबुन-हैण्डवॉश-हैंड सेनिटाइजर इत्यादि से नियमित रुप से और अच्छी तरह से हाथ साफ करने के लिए कहा गया है। पुलिस कर्मियों को आपस में सैल्यूट के माध्यम से अभिवादन करने तथा आपस में हाथ मिलाने से बचने के भी निर्देश दिए गए हैं।



समस्त पुलिस कार्यालयों में एक प्रतिशत हाइपोक्लोराइट के द्वारा दरवाजों,कुर्सियों, अलमारियों के हत्थों, मेज, सीढियों की रैलिंग, फर्श एवं अन्य संभावित मुख्य रुप से स्पर्श में आने वाली वस्तुओं, उपकरणों आदि पर दैनिक रुप से पोछा लगवाते हुए विसंक्रमित करने के निर्देश दिए गए हैं।



एडवाइजरी के अनुसार पुलिसकर्मियों को भीड़भाड वाली जगह, जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारों, चर्च, सिनेमाघर, मॉल्स, शादी एवं पार्टियों इत्यादि में व्यक्तिगत तौर पर जाने से बचने व खांसी सहित संदिग्ध व्यक्तियों से दूरी बनाकर रखने के निर्देश दिए गए हैं। किसी भी कार्मिक में जुकाम, खांसी, बुखार एवं वायरल बुखार जैसे लक्षण पाये जाने पर तुरंत चिकित्सक से सम्पर्क करें एवं कार्यालय से अवकाश पर रहने के लिए कहा गया है। सर्दी, जुकाम एवं श्वसन सम्बन्धी बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाये रखने एवं समूह में खडे़ नहीं रहने के भी कहा गया है। खांसी अथवा छींक आने पर मुंह व नाक पर टिष्यू पेपर अथवा कोहनी मोड़ कर लगाने, हाथों को मुँह तक पहुंचने से रोकने तथा मास्क का इस्तेमाल करने के लिए भी कहा गया है। कोरोेना वायरस के लक्षण पाये जाने पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के कोरोना हैल्पलाईन नम्बर 0141-2225624 पर सम्पर्क स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं।