राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 5 प्रतिशत की वृद्धि 
जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर राज्य सरकार ने कर्मचारियों को देय महंगाई भत्ते तथा पेंशनरों के लिए महंगाई राहत दर में 5 प्रतिशत की वृद्धि की है। महंगाई भत्ते एवं महंगाई राहत दर में यह वृद्धि 1 जुलाई, 2019 से लागू होगी। इस वृद्धि से लगभग 8 लाख कर्मचारी एवं 4.40 लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे।

 

वर्तमान में राज्य कर्मचारियों को वेतन का 12 प्रतिशत महंगाई भत्ता देय है। इस वृद्धि के बाद भत्ता बढ़कर 17 प्रतिशत हो गया है। बढ़े हुए महंगाई भत्ते का लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित कर्मचारियों, पंचायत समिति, जिला परिषद के कर्मचारियों तथा राज्य के पेंशनरों को भी देय होगा। 

 

एक जुलाई, 2019 से 29 फरवरी, 2020 तक बढ़े हुए महंगाई भत्ते की राशि संबंधित कर्मचारियों के सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जायेगी तथा 1 मार्च, 2020 से महंगाई भत्ते का नकद भुगतान दिया जायेगा। पेंशनरों तथा 1 जनवरी, 2004 एवं उसके बाद नियुक्त राज्य कर्मचारियों को बढ़े हुए महंगाई भत्ते/महंगाई राहत का भुगतान नकद देय होगा। 

 

महंगाई भत्ते में इस वृद्धि से राज्य सरकार पर वित्तीय वर्ष 2020-21 में लगभग 3417 करोड़ रूपये का अतिरिक्त वित्तीय भार पड़ेगा।