सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने की उदयपुर सर्किट हाउस में जनसुनवाई

जयपुर।  सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री एवं उदयपुर जिले के प्रभारी मास्टर भंवरलाल मेघवाल मंगलवार  को उदयपुर के सर्किट हाउस में जनसुनवाई करते हुए आमजन के परिवादों को सुना एवं शीघ्र राहत का आश्वासन दिया।

 

इस दौरान परिवादियों एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों में मेवाड़ की इस धरा पर पन्नाधाय के नाम से चौराहा स्थापित करने व पन्नाधाय की प्रतिमा लगाने, स्मार्ट सिटी के कार्यों की प्रभावी मॉनिटरिंग के साथ स्थानीय पार्षदों को इसमंि शामिल करने, समाज कल्याण से जुड़ी स्वयंसेवी संस्थाओं को समय-समय पर अनुदान राशि उपलब्ध कराने आदि परिवाद प्रस्तुत किए।

 

इस अवसर पर श्री मेघवाल ने बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य शैलेन्द्र पण्ड्या से जिले में बाल श्रम की स्थिति पर चर्चा करते हुए इसके लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी ली। पण्ड्या ने उन्हें हाल ही में सूरत से रेस्क्यू किए गए बाल श्रमिकों के बारे में जानकारी दी। प्रभारी मंत्री ने बाल श्रम की प्रभावी रोकथाम के साथ ही बालकों को शिक्षा एवं अन्य विभागीय योजनाओं से जोड़ने के समुचित प्रयास करने की बात कही। उन्होंने इस क्षेत्र में कार्यरत स्वयंसेवी संस्थाओं की समस्याओं को भी सुना और समस्याओं के उचित समाधान के साथ हर संभव सुविधा का आश्वासन दिया।

 

जनसुनवाई से पूर्व जिला कलक्टर आनन्दी ने सर्किट हाउस पहुंचकर प्रभारी मंत्री से मुलाकात कर उन्हें जिले के वैकासिक परिदृश्य से अवगत कराया। प्रभारी मंत्री ने जिले में जारी विभिन्न विकास कार्यों एवं वर्तमान में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर संजय कुमार सहित स्थानीय जन प्रतिनिधि व विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।