स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर लोगो को कर रही सतर्क

जयपुर। कोरोना वायरस के प्रति गंभीरता बरतते हुए स्वास्थ्य विभाग दवारा लोगों को निरंतर जागरूक किया जा रहा है।  कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिले में हाईरिस्क क्षेत्र की पहचान कर उन्हें चिन्हित करके जिला प्रशासन के समन्वय से स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने सघन सर्वे एवं स्क्रीनिंग अभियान चला रखा है।



मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. हंसराज भदालिया ने बताया कि वर्तमान में जिले में कोविड-19 रोग के बचाव रोकथाम व नियंत्रण हेतु घर-घर सर्वे एवं ओपीडी स्क्रीनिंग की जा रही है। अब तक जिले में 01लाख 98 हजार 514 घरो में चिकित्सा विभाग की आर.आर.टी. टीम ने सर्वे कर 07 लाख 47 हजार 588 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की हैं। इनमें से विदेशों से आये, अन्य राज्यो व जिलो से आये 872 व्यक्तियों को होम क्वारेंटाइन पर रखा गया हैं। होम क्वारेंटाइन चिकित्सा विभाग की एक सामान्य प्रकिया होती है, जिसे स्क्रीनिंग और प्रीवेंशन कहा जाता है जिसके तहत जो व्यक्ति संदिग्ध स्थानों से आये हैं, उनको निगरानी में रखा जाता है और उनकी स्क्रीनिंग की जाती है जो एक सामान्य प्रकिया होती है और मेडिकल टीम जाकर एहतियात के तौर पर यह प्रक्रिया करती है।



उन्होंने बताया कि कोरोना वाइरस के संक्रमण को रोकने के लिए सम्पूर्ण जिले सहित, हाईरिस्क क्षेत्र की पहचान कर उन्हें चिन्हित करके जिला प्रशासन के समन्वय से स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने सघन सर्वे एवं स्क्रीनिंग अभियान चला
रखा है। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा हर गली-मोहल्ले में डोर टू डोर सर्वे कर आमजन की स्क्रीनिंग की जा रही है, साथ ही उन्हें कोरोनावायरस के लक्षण बचाव, व रोकथाम युक्त पंपलेट का वितरण कर लॉक डाउन का पालन करते हुए अपने घरों में ही
रहने की समझाइश की जा रही है।



स्वास्थ्य कार्यकर्ता लोगो को अपने आसपास आने वाले अन्य राज्य, जिलों व विदेशों से आए हुए नागरिकों की सूचना विभाग के कन्ट्रोल रूम नंबर +91-11- 23978046 (नेशनल कॉल सेंटर), 0141-2225624 (स्टेट कंट्रोल रूम), 0141-2603426 (जिला कंट्रोल रूम), 104/108 (टोल फ्री हेल्पलाइन) पर जानकारी देने की हिदायत दे रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमें होम क्वॉरेंटाइन वाले व्यक्तियों के घर के बाहर होम क्वॉरेंटाइन के नोटिस चस्पा कर उन व्यक्तियों को घर में रहने पर पाबन्द कर रही है।