भारत सरकार के द्वारा प्रवासी मज़दूरों, छात्रों और पर्यटकों को उनके घरों तक जाने की मिली छूट का स्वागत - डा.पूनियाँ
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दूसरे राज्यों में फँसे राजस्थानियों को तुरंत लाने की करे व्यवस्था

 

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा.सतीश पूनियाँ ने केंद्रिय गृह मंत्रालय द्वारा लाक़डाउन के दौरान विभिन्न राज्यों में फँसे मज़दूरों , छात्रों और पर्यटकों को उनके घरों तक जाने की दी गई छूट का स्वागत किया है ।साथ ही उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से अपील की है की वो केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश की अनुपालना करते हुए अन्य राज्यों में फँसे राजस्थानियों को उनके घर तक लाने की व्यवस्था करें।

पूनियाँ ने कहा की अब राज्य इसके  लिए नोडल आफिसर तय करेंगे जो आपसी सहमति से लाने ले जाने का प्रोटोकाल तय करेंगे । बहुत सारे राजस्थानी प्रवासी दूसरे राज्यों में फँसे हुए थे और दूसरे राज्यों के लोग राजस्थान में भी फँसे हुए थे ।प्रदेश भाजपा की नियमित ब्रिफिंग में ये माँग भारत सरकार तक पहुँचाई गई थी की इन्हें इनके घरों तक जाने की छूट मिले । आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इनको हो रही परेशानी को देखते हुए ये फ़ैसला लिया है , जिसके लिए हम उनका अभिनंदन करते है ।

उन्होंने कहा की राजस्थान सरकार अधिकारियों की तैनाती कर , प्रवासियों को लाने के लिए साधन और समुचित व्यवस्था का प्रबंध करें , ये सुनिश्चित करे की अब किसी प्रवासी को और इंतज़ार नहीं करना पड़े । 

डा.पूनियाँ ने कहा की सरकार को इस काम के लिए अगर हमारे सहायोग की ज़रूरत हो तो वो बताए , हम हर तरीक़े से सहयोग के लिए तैयार है ।