हर क्वारेंटाइन सेंटर के लिए आधारभूत सुविधा, भोजन व्यवस्था, चिकित्सा, सेनेटाइजेषन, प्रोटोकाॅल पालना का रोडमैप तैयार होगा: नोडल अधिकारी

जयपुर। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के नोडल अधिकारी एवम ऊर्जा विभाग के प्रमुख शासन सचिव अजिताभ शर्मा ने सोमवार को सीतापुरा में कार्यरत एवम बगराना, नायला तथा महलां में तैयार किये जा रहे क्वारेंटाइन सेंटर्स का निरीक्षण किया एवम आवश्यक व्यवस्थाओं के लिए अधिकारियों को निर्देश प्रदान किये। जेडीसी टी.रविकांत एवं जिला कलेक्टर डॉ जोगाराम भी इस निरीक्षण में उनके साथ थे।


शर्मा ने सबसे पहले सीतापुरा स्थित ग्लोबल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में बनाये गए क्वारेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया। यहां कोरोना पॉजिटिव के प्राइमरी एवम सेकेंडरी कॉन्टेक्ट्स को क्वारेंटाइन कर रखा गया है। उन्होंने यहां के सभी प्राइमरी कॉन्टेक्ट्स का पीसीआर टेस्ट कराने के निर्देष दिए गए। श्री शर्मा  के क्वारेंटाइन किये गए लोगों की दिनचर्या, उनके भोजन प्रबंधन, सेनेटाइजेशन, कचरा निस्तारण की जानकारी ली एवम आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने सेंटर में क्वारेंटाइन प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करवाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।


शर्मा ने बगराना आवासीय योजना में क्वारेंटाइन सुविधा के लिए तैयार किये जा रहे आवासों का निरीक्षण करते हुए सभी कमरों में पंखे, रोषनी, सफाई, पानी की सुविधा, सेंटर शुरू किए जाने की स्थिति में क्वारेंटाइन किए गए लोगों के भोजन, सेनिटाइजेषन, क्वारंेंटाइन प्रोटोकाॅल पालना के लिए पर्याप्त कार्मिकों की व्यवस्था आदि के सम्बन्ध में तैयारियों की समीक्षा की एवं निर्देष प्रदान किए। यहां जेडीए द्वारा करीब 1800 को क्वारेंटाइन सुविधा के लिए तैयार करवाया जा रहा है। नोडल अधिकारी ने नायला स्थित दस्तकार नगर आवासीय योजना में भी क्वारेंटाइन सुविधा का निरीक्षण कर निर्धारित सभी आवासों को जल्द से जल्द कार्यस्थिति में लाने के लिए निर्देषित किया। यहां करीब 2 हजार लोगों को क्वारेंटाइन किए जाने लायक आवासों में काम कराया जा रहा है।   इसके बाद उन्होंने हाउसिंग बोर्ड की महलां स्थित आवासीय योजना में तैयार किए जा रहे फ्लेट्स का निरीक्षण किया। उन्होंने तैयार किए जा रहे फ्लैट के कमरों का निरीक्षण कर इंतजामों के बारे में निर्देष दिए एवं पेयजल के लिए अलग से नल लगाने को कहा।


शर्मा ने तैयार किए जा रहे सभी क्वारेंटाइन सेंटर्स पर पेयजल, रोषनी, सफाई, सेनेटाइजेषन, पंखों एवं टंकियों के इंस्टालेषन, सीवरेज लाइनों के दुरूस्तीकरण, नाष्ते एवं भोजन व्यवस्था, कचरा संग्रहण एवं निस्तारण व्यवस्था समेत क्वारेंटाइन किए जाने वाले लोगों की सुविधा से जुडे़ विविध पक्षों पर जेडीसी, जिला कलक्टर एवं अन्य अधिकारियों को निर्देषित किया। उन्होंने कहा कि सभी क्वारंेटाइन संेटर्स जल्द से जल्द सभी आधारभूत सुविधाओं के साथ वर्किंग कंडीषन में लाए जाएं। एक बार लोग जब यहां आ जाएं तो सुविधा के साथ सबसे बड़ी चुनौती क्वारेंटाइन प्रोटोकाॅल की पालना करवाने की रहेगी। इन सभी इंतजामों का रोड मैप पहले ही तैयार कर लिया जाए।