कोरोना की रोकथाम के लिए मोदी जी के प्रयासों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सराहा गया – कर्नल राज्यवर्धन

मुंह को ढकने के लिए करें गमछे का प्रयोग


जयपुर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद जयपुर ग्रामीण कर्नल राज्यवर्धन राठौड़ ने आज एक साक्षात्कार के दौरान कहा कि कोरोना वायरस (COVID 19) की असामान्य परिस्थितियों के चलते आज पूरे विश्व में जो स्थिति है वह किसी विश्वयुद्ध से कम नहीं है। सभी देश इस महामारी से निपटने में लगे हए है जिसके कारण दनिया थम सी गई है और इंसान अपने घरों में कैद होकर रह गया है। इस कठिन परिस्थिति में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में भारत ने पूरी दुनिया के सामने एक शानदार उदाहरण दिया है। समय रहते मोदी जी ने लॉकडाउन जैसे तुरन्त प्रभावी कदम उठाए जिसके परिणामस्वरूप विश्व में अन्य देशों के मुकाबले इस वायरस से भारत में संक्रमितों की संख्या व मृत्यु दर काफी कम है।


मोदी जी का कहना है कि जनता की सुरक्षा हमारा पहला कर्तव्य है। यह एक कुशल नेतृत्व का ही कमाल है कि आज पूरा देश सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए एक दिशा में कदम बढ़ा रहा है। पूरा विश्व आज मोदी जी द्वारा लिए गये निर्णयों की प्रशंसा कर रहा है। कर्नल राज्यवर्धन ने कहा कि उनका संसदीय क्षेत्र एक ग्रामीण इलाका है ज्यादातर ग्रामीणों के पास गमछा हमेशा रहता है तो कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु सभी ग्रामीणों को मुंह ढकने के लिए गमछे का प्रयोग करना चाहिए इससे अच्छा कुछ भी नहीं है। 


कर्नल राज्यवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस एवं अन्य बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर का स्वस्थ रहना अत्यावश्यक है इसके लिए लॉकडाउन का सदुपयोग करते हुए निरंतर योग एवं व्यायाम करें साथ ही आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमाता बढ़े। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक दूरदर्शी व्यक्ति है उनके हम फिट तो इंडिया फिट के लिए फिटनेस मुवमेंट चलाया गया था।


कर्नल राज्यवर्धन ने कहा कि संकट की इस घड़ी में अपने मन में अच्छे विचार लाऐं फोन और सोशल मीडिया के माध्यम से परिवारजनों और मित्रजनों का मोरल हाई रखें। उन्होंने कहा कि हमें कोरोना योद्धाओं का सहयोग करते हुए उनका आत्मबल बढ़ाना चाहिए, कोरोना वॉरियर्स का सम्मान करे और फोटो व वीडियों सोशल मीडिया पर अपलोड़ कर उनका हौसला बढ़ाएं साथ ही लॉकडाउन का पालन करते हुए अपने घरों में ही रहें व दिन में अनेक बार साबुन से हाथ धोएं।