परकोटा क्षेत्र में स्क्रीनिंग के लिए लगेंगी 100 अतिरिक्त टीमें, 7 अप्रेल तक सर्वे पूरा करने के दिए निर्देष: जिला कलक्टर

आपसी समन्वय से निवासियों को विष्वास में लेकर स्क्रीनिंग करने को कहा गया, चारदीवारी क्षेत्र में दूध, किराना, सब्जी एवं अन्य आवष्यक सामान की आपूर्ति की समीक्षा



जयपुर। जिला कलक्टर डाॅ.जोगाराम ने निर्देष दिए कि जयपुर के रामगंज सहित पूरे क्षेत्र मे कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए मेडिकल टीमोें की संख्या बढाई जाए एवं घर-घर जाकर चारदीवारी में प्राथमिक सर्वे 7 अप्रेल तक हर हालत में पूरा कर लिया जाए। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों को इसके लिए रविवार से 100 अतिरिक्त मेडिकल टीमोें को सर्वे के लिए फील्ड में उतारने के निर्देष दिए। अभी करीब 150 टीमें घर-घर स्क्रीनिंग के काम में जुटी हुई हैं।  ये 250 सर्वे टीमें प्रातः 9.30 बजे से शाम 6 बजे तक फील्ड में रहेंगी, उनके भोजन की व्यवस्था भी जिला प्रषासन द्वारा कार्यक्षेत्र में ही की जाएगी।



जिला कलक्टर ने शनिवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में चारदीवारी के कर्फ्यू ग्रस्त क्षेत्र में मेडिकल स्क्रीनिंग, खाद्य, दूध एवं आवष्यक सामान की आपूर्ति, जरूरतमंदों को वितरित किए जा रहे पके भोजन एवं कच्ची राषन सामग्री, कानून व्यवस्था जैसे विभिन्न विषयों पर सम्बन्धित विभागों की बैठक लेकर आवष्यक निर्देष दिए। उन्होंने मेडिकल स्क्रीनिंग की धीमी गति के सम्बन्ध में नाराजगी प्रकट करते हुए सीएमएचओ प्रथम एवं द्वितीय के अधिकारियेां को निर्देष दिए कि सर्वे टीम ज्यादा से ज्यादा समय तक फील्ड में रहे, टीमों की संख्या बढाई जाए एवं कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्र में जिला प्रषासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ समन्वय रखते हुए शहरवासियों को विष्वास में लेकर कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि स्क्रीनिंग कार्य में लगे चिकित्सकों का पूरा ध्यान रखा जाएगा। उन्हें जिला प्रषासन द्वारा भोजन भी कार्यक्षेत्र में ही उपलब्ध कराया जाएगा। जिला कलक्टर ने कहा कि मेडिकल स्क्रीनिंग का काम पूरी गुणवत्ता से किया जाना चाहिए और इसमें तनिक भी लापरवाही नहीं रहनी चाहिए। उन्होंने चिकित्सा विभाग के डिप्टी सीएमएचओ   को रामगंज क्षेत्र में मुख्यालय बनाने के लिए भी निर्देषित किया।



डाॅ.जोगाराम ने थानाक्षेत्रवार दूध की आपूर्ति, काॅनफेड द्वारा बिक्री किए जा रहे किराना के सामान के सम्बन्ध में स्थिति, सब्जी की आपूर्ति समेत कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे सेनेटाइजेषन कार्य की स्थिति की समीक्षा की एवं आवष्यक निर्देष दिए। उन्होंने सभी अधिकारियों को यह सुनिष्चत करने के लिए निर्देषित किया कि सम्पूर्ण जयपुर के साथ चारदीवारी में भी कोई परिवार भूखा न रहे, हर जरूरतमंद व्यक्ति एवं परिवार के पास सूखा राषन या पका भोजन पहंुचना चाहिए।  डाॅ.जोगाराम ने यह भी निर्देष दिए कि पूरे जयपुर जिले में कोरोना से सम्बन्धित मामलों के अलावा गर्भवती महिलाओं, अन्य मेडिकल इमरजेंसी पेषेन्ट्स के बारे में भी त्वरित कार्यवाही कर राहत प्रदान की जाए।



बैठक में सवाई मानसिंह चिकित्सालय के अधीक्षक डी.एस मीना, आरयूएचएस के डाॅ.कक्कड़ ने कोरोना संक्रमितो के इलाज के सम्बन्ध में अपनी तैयारियों की जानकारी दी एवं कुछ उपकरणों की मांग की जिसके लिए जिला कलक्टर ने अधिकारियेां को निर्देषित किया। पुलिस के डीसीपी नाॅर्थ राजीव पचार ने कहा कि चारदीवारी में पुलिस बल पर्याप्त संख्या में उपलब्ध है और कानून व्यवस्था एवं कर्फ्यू की पूरी पालना कराई जा रही है। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम इकबाल खान, अतिरिक्त जिला कलक्टर उत्तर बीरबल सिंह, कर्फ्यू ग्रस्त क्षेत्र के थानावार प्रभारी अधिकारी, सीएमएचओ कार्यालय प्रथम एवं द्वितीय के अधिकारी एवं क्वारेंटाइन सेंटर्स के प्रभारी अधिकारी शामिल हुए। बैठक का संचालन अतिरिक्त जिला कलक्टर चतुर्थअषोक कुमार ने किया।