पी एम किसान निधि सम्मान योजना में प्रदेश के 60 लाख किसानों को मिले दो हजार रुपए

जयपुर। देश में कोरोनो महामारी के संक्रमण की रोकथाम के लिए किए गए देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों को सहायता उपलब्ध करने के उद्देश्य से घोषित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज प्रदेश के कई गरीब और जरूरतमंद लोगों का सहारा बना है। इसी पैकेज के तहत गरीब किसानों को पी एम किसान सम्मान निधि योजना में दो-दो हजार रुपए की राशि सीधे उनके बैंक खातों में हस्तांतरित की गई है। प्रदेश के सभी पात्र किसानों को योजना के अंतर्गत 2000 रु की पहली किस्त का भुगतान प्राप्त हो गया है।


राजस्थान में 60 लाख किसानों के बैंक खातों में 1200 करोड़ रुपए की धनराशि ट्रांसफर की गई है। प्रदेश में ऐसे कई लाभार्थी किसान है जिनके लिए मुश्किल समय में दी गई यह सहायता एक बड़ा सहारा साबित हुई है। बाराँ जिले के किसान अमरलाल ने बताया की कटाई के समय मिली इस आर्थिक मदद से वे और उनका पूरा परिवार प्रसन्न है। चुरू के किसान लखीन्द्र ने इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि मुसीबत के समय सरकार उनकी सहायता के लिए आगे आई है।


अलवर जिले के तुलाड़ा गाँव के प्रगतिशील किसान नरेंद्र यादव ने ना सिर्फ उन्हें मिली वित्तीय सहायता पर खुशी जताई, बल्कि देश को कोरोना से बचाने के लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने का भी समर्थन किया। प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों के कुछ अन्य किसानों ने बताया कि उन्होंने इस धनराशि का उपयोग खाद-बीज खरीदने, कटाई मशीन का किराया देने, डीजल खरीदने और
मजदूरी के भुगतान के लिए किया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना पैकेज की घोषणा 26 मार्च को की गई थी। इसी के एक घटक के रूप में पात्र किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत दो-दो हजार की आर्थिक मदद पहुंचाई गई है। कल तक की जानकारी के अनुसार देश भर में इस योजना के तहत 8 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 16 हजार करोड़ रुपए हस्तांतरित किए गए है।