प्रयोगशाला सहायक भर्ती-2018 की लंबित प्रोविजनल सूची अविलंब जारी कर नियुक्ति दें सरकार: राजेन्द्र राठौड़

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर प्रयोगशाला सहायक भर्ती-2018 की लंबित प्रोविजनल सूची को जारी कर अतिशीघ्र नियुक्ति दिए जाने की मांग की है। उपनेता प्रतिपक्ष ने पत्र के माध्यम से कहा है कि दिनांक 29.05.2018 को निदेशालय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं, राजस्थान के पत्रांक ई-33/प्रयोग.सहायक/एमएनआईटी/सीधी भर्ती-2018/333-334 के द्वारा 1543 पदों की भर्ती हेतु विज्ञप्ति निकाली थी। तत्पश्चात् उक्त पदों हेतु पात्र अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन व क्षेत्रवार अनुभव सत्यापन के बावजूद भी आज तक इन्हें नियुक्ति नहीं दी गई है।

उपनेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ाई में प्रयोगशाला सहायकों के योगदान व परीक्षण हेतु महत्ती आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए इनके अनुभव का पूर्ण लाभ लिया जा सकता है। इसलिए इन्हें अतिशीघ्र नियुक्ति दी जावें।

चिकित्सा अधिकारियों, नर्सिंग स्टाफ व लैब टैक्नीशियनों की नियुक्ति हेतु भी लिखा पत्र
उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को एक और पत्र लिखकर चिकित्साधिकारी भर्ती परीक्षा में सम्मिलित हुए सभी अभ्यर्थियों को स्थाई नियुक्ति दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा अधिकारी भर्ती परीक्षा में 735 अभ्यर्थियों को नियुक्ति मिली थी लेकिन परीक्षा में 2737 पदों की तुलना में करीब 3500 अभ्यर्थी उक्त परीक्षा में सम्मिलत हुए थे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चिकित्सा अधिकारियों, नर्सिंग स्टाफ व लैब टैक्नीशियनों को अतिशीघ्र नियुक्ति दें ताकि कोरोना महामारी के विरुद्ध जारी जंग को अधिक मजबूती के साथ लड़ा जा सके।