संकट की घड़ी में भी भेदभाव कर रही है सरकार - भाजपा

राहत सामग्री वितरण में अनिमियताओं को लेकर भाजपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल मिला जयपुर कलेक्टर से 

जयपुर।  भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने आज जयपुर कलेक्टर से मिलकर राहत सामग्री पहुँचाने में हो रहे भेदभाव पर नाराज़गी प्रगट की। प्रतिनिधिमंडल में शामिल सांसद रामचरण बोहरा , विधायक कालीचरण सराफ़, नरपत सिंह राजवी , अशोक लाहोटी , पूर्व मंत्री अरुण चतुर्वेदी , पूर्व विधायक अशोक परनामी, कैलाश वर्मा ने ज़िला कलेक्टर को कहा की आपदा की इस घड़ी में भी राहत सामग्री वितरण में प्रशासन भेदभाव कर रहा है , कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं के द्वारा बताए गए स्थानों और लोगों को ही वितरण हो रहा है ।


भाजपा नेताओं ने कहा की लाकडाउन के दो सप्ताह बीत चुके है , लेकिन जयपुर में अधिकतर स्थानों पर ज़रूरत मंद लोगों तक राशन सामग्री नहीं पहुँची है , यहाँ तक की राशन की दुकानों से भी राशन नहीं मिल रहा है । जयपुर में राधास्वामी सत्संग , इस्कान, अक्षयपात्र , अमरापुर जैसी बड़ी सामाजिक संस्थाएँ ज़रूरतमंद लोगों के लिए प्रतिदिन 2 लाख भोजन पैकेट बना कर प्रशासन को देती है , प्रशासन उन्हें कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सौंप देता है , जिससे वो ज़रूरतमंद लोगों तक नहीं पहुँच पाते है ।  
भाजपा नेताओं ने कहा की ऐसे मुश्किल समय में जबकि सब राजनैतिक दल सरकार के साथ खड़े है , उस समय में प्रशासन का कांग्रेसीकरण हो रहा है , जो बेहद निंदनीय है । कल कलेक्टर द्वारा बुलाई गई मीटिंग में भी केवल कांग्रेस के विधायकों को बुलाया गया, भाजपा के चुने हुए जनप्रतिनिधी चाहे सांसद हो या विधायक उनको इस बैठक में बुलाया ही नहीं गया , इससे बड़ा भेदभाव का उदाहरण और क्या हो सकता है ।


विधायक अशोक लाहोटी ने कलेक्टर जो एक सूची सौंपी जिसमें एसडीएम साँगानेर ने राहत सामग्री वितरण करने वाले अधिकारियों की सूची में ही कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का नाम डाल दिया । भाजपा नेताओं ने कलेक्टर से कहा की जयपुर के हर ज़रूरतमंद नागरिक को बिना भेदभाव राहत सामग्री का वितरण हो ये वो सुनीश्चित करें ।