उज्ज्वला योजना बनी गृहणियों की मददगार

जयपुर। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत लॉकडाउन में घर बैठे रसोई गैस सिलेन्डर निःशुल्क उपलब्ध होने से ग्रामीण और कस्बाई क्षेत्रों की गृहणियों को अपनी रसोई चलाने में बड़ी मदद मिली है। कोरोना महामारी के संक्रमण की रोकथाम के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों की सहायता के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा की गई थी। इस पैकेज के तहत सभी पात्र महिलाओं को एलपीजी सिलेन्डर दिये जा रहे हैं।  


प्रदेश में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत 58 लाख 73 हजार से अधिक महिलाओं को निःशुल्क एल पी जी सिलेन्डर दिये जा चुके हैं। गैस सिलेन्डर की एवज में इन महिलाओं के बैंक खातों में 447 करोड़ 82 लाख रुपए से अधिक की राशि हस्तांतरित की जा चुकी है। राज्य में लगभग सभी महिलाओं को गैस सिलेन्डर प्राप्त हो गए हैं और उनके खाते में पैसे भी जमा हो चुके हैं। इस योजना के तहत पात्र महिलाओं को तीन सिलेन्डर निःशुल्क दिये जाएँगे।


उज्ज्वला योजना में निःशुल्क सिलेन्डर मिलने से प्रदेश के ग्रामीण और शहरी क्षेत्र की महिलाएं बड़ी प्रसन्न हैं। हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा की संदीप कौर ने बताया कि सिलेन्डर मिलने से लॉकडाउन में भी उनकी रसोई बड़े आराम से चल रही है। इसी कस्बे की सरोज रानी ने मुश्किल दौर में दी गई इस मदद के लिए सरकार का आभार व्यक्त किया। धौलपुर जिले की मीना और पुष्पा देवी ने भी कहा कि सिलेन्डर मिलने से लॉकडाउन के दौरान कम से कम खाना पकाने की उनकी चिंता दूर हो गई। बांसवाड़ा जिले की माया देवी का कहना है कि खाते में पैसा आने के साथ ही मुफ्त गैस सिलेन्डर मिलने से पूरे परिवार को राहत मिली है।