16 पंचायत समितियों एवं 226 ग्राम पंचायतों के  नवीन भवन निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण किये जाये: उप मुख्यमंत्री
जयपुर, 26 मई। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने पंचायत समितियों एवं ग्राम पंचायतों के नवीन भवन निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये हैं। वर्ष 2014 में 47 पंचायत समितियां तथा 723 ग्राम पंचायतों नवसृजित की गई थी जिनमें से 44 पंचायत समितियों तथा 665 ग्राम पंचायतों के नवीन कार्यालय भवन निर्माण की स्वीकृतियां जारी की गई थी। स्वीकृत कार्यों में से 16 पंचायत समितियों तथा 226 ग्राम पंचायतों के भवन निर्माण कार्य प्रगतिरत है।

 

ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुए उन्होंने बताया कि सीमांत क्षेत्रीय विकास योजना के तहत पिछले पांच वर्षों में वित्तीय वर्ष 2019-20 में सर्वाधिक प्रगति अर्जित की गई है।

 

उन्होंने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत प्रदेश में स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए बेस लाइन सर्वे से शेष रहे लाभार्थियों का चिन्हिकरण कर प्रतिदिन 10 हजार शौचालयों का निर्माण करवाया जा रहा है तथा अब तक 72 प्रतिशत से अधिक लाभार्थियों के शौचालयों का निर्माण हो चुका है। 

 

उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को शौचालय निर्माण कर शौच हेतु शौचालय का उपयोग करने के लिए प्रेरित करने के लिए प्रचार-प्रसार के साधन के रूप में सभी ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर आदर्श शौचालयों का निर्माण करवाया जा रहा है जिसके तहत 71 प्रतिशत से अधिक ग्राम पंचायतों में निर्माण पूर्ण हो चुका है। साथ ही प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर सामुदायिक शौचालय निर्माण करवाया जा रहा है जिनमें से 4,206 ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। 

 

पायलट ने बताया कि स्वच्छता एवं खुले में शौच से मुक्त के प्रति जागरूकता एवं जनचेतना जागृत करने तथा लोगों को प्रेरित के लिए प्रदेशभर में 51,682 प्रशिक्षित एवं समर्पित स्वच्छाग्राही कार्य कर रहे हैं। 

 

उन्होंने विभागीय अधिकारियों एवं जिला परिषदों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में आ रही समस्याओं को चिन्हित कर उन्हें दूर करें तथा आवश्यक होने पर राज्य सरकार के ध्यान में लायी जाये। साथ ही योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही के लिए संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही करने तथा किसी भी स्तर पर कार्यों की गति में शिथिलता को सहन नहीं किये जाने के निर्देश दिये।