बाँसवाड़ा में एनसीसी कैडेट्स बने कोरोना सिपाही

जयपुर। जब सामाजिक सेवा की बात आती है तो नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी) के कैडेट्स हमेशा अग्रिम पंक्ति में खड़े नजर आते हैं। कोरोना वायरस के इस दौर में लोगों तक बैंकिंग सेवा पहुंचाने में बैंक कर्मचारी तो कोरोना वारियर्स की भूमिका अदा कर ही रहे हैं, उनकी सहायता करने में एनसीसी कैडेट्स भी पीछे नहीं हैं।


रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत संचालित नेशनल कैडेट कोर ने ‘एक्सरसाइज एनसीसी योगदान’ के नाम से देशव्यापी अभियान चलाया है। बांसवाड़ा में यह कैडेट जिले के दूरदराज क्षेत्रों में स्थित बैंकों के बाहर कोविड-19 के संबंध में बैंकों के ग्राहकों को जागरूक करने, मास्क का नि:शुल्क वितरण करने, लोगों के हाथों को सेनेटाइज करने के बाद ही बैंकों में प्रवेश देने तथा सामाजिक दूरी बनाकर रखने का संदेश देने जैसे महत्वपूर्ण दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं।


इसके अलावा कैडेट तत्परता के साथ जिला प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर नि:शुल्क राशन सामग्री के वितरण और यातायात नियंत्रण के काम में भी अपनी सेवाएं दे रहे हैं। यह कैडेट्स 10 राज बटालियन एनसीसी उदयपुर के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल सुधाकर त्यागी तथा उनके अधीनस्थ पीएसपी कॉलेज के एनसीसी ऑफिसर लेफ्टिनेंट मुकेश पंड्या के दिशा निर्देशन में कार्य कर रहे हैं। लेफ्टिनेंट मुकेश पंड्या ने बताया कि यह काम हमारे कैडेट के लिए चुनौतीपूर्ण हैं, फिर भी इन कैडेट्स का जोश और जज्बा काबिले तारीफ है। हम सभी इस सेवा के लिए गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।


बाँसवाड़ा के अग्रणी बैंक प्रबंधक जनकेश औदिच्य ने कहा कि कोविड-19 के चलते लोगों से सामाजिक दूरी का पालन करवाने के साथ साथ बैंकिंग सेवाएँ उपलब्ध करवाना बैंक के लिए काफ़ी चुनौतीपूर्ण था, लेकिन एनसीसी कैडेट की मदद मिलने से यह काम आसान हो गया है। अब हमारे कर्मचारी बैंकिंग सेवा पर ज्यादा ध्यान केन्द्रित कर पा रहे हैं।