घर-घर में मनाया जाएगा बाबा जयगुरुदेव का भंडारा पर्व
महाराज जी ने लॉक डाउन के इस समय मे सभी प्रेमियों से अपील की है कि सरकारी नियमों का पालन करते हुए अपने-अपने घरों में ही रहकर गुरु महाराज का पूजन करेंगें । 


जयपुर। विश्वविख्यात परम् सन्त बाबा जयगुरुदेव जी महाराज की अष्टम पुण्यतिथि (भंडारा) पर्व कल ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष त्रयोदशी दिनांक 20 मई को मनाया जाएगा। बाबा जयगुरुदेव जी महाराज ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष त्रयोदशी के दिन ही 116 वर्ष की उम्र में अपने निज धाम जाने की मौज की थी। कोरोड़ो लोगों की बाबाजी ने शराब और मांस छुड़ाकर सबको शाकाहारी, सदाचारी एवं नशामुक्त बनाया था। अब बाबा जयगुरुदेव जी महाराज के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी सन्त पूज्य बाबा उमाकान्त जी महाराज भी उनके इस मिशन को आगे बढ़ा रहे हैं। समय-समय पर अपने श्री मुख से भविष्य वाणी करके सभी लोगों को बराबर चेता भी रहे है। गुरु महाराज की कही हुई बातें अब धीरे धीरे लोगों के सामने आती जायेगी। ऐसे समय मे अपने लोगों को बहुत ही सावधानी और सयंम बरतने की जरुरत हैं। जो भी नियम कानून चाहे सरकार का हो, चाहे प्रकृति का हो, काल भगवान का हो ,उसका पालन करना जरूरी है।

 

बाबा जयगुरुदेव संगत राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष वैध रामकरण शर्मा ने बताया कि वैसे भंडारे का ये महापर्व प्रतिवर्ष बाबा जयगुरुदेव आश्रम उज्जैन,मध्यप्रदेश में पूज्य संत महाराज जी के सानिध्य में मनाया जाता है जिसमें लाखों की संख्या में भक्त पहुँचते है लेकिन इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण राजस्थान और जयपुर जिला की संगत महाराज जी के आदेशानुसार सरकारी नियम के अंतर्गत अपने घरों में ही भंडारा पर्व मनाएगी।

 

इस मौके पर सभी सत्संगी भाई-बहन प्रातः 8 बजे गुरु का पूजन करेंगे और जयगुरुदेव नाम की ध्वनि अपने अपने घरों में करेंगे। और सभी के घरों में बनाया हुआ भोजन प्रसाद (पक्का खाना ) अपने आस पास के जरूरतमंद लोगों को खिलाया जायेगा और गायों को चारा भी खिलाया जायेगा।  पिछले 55 दिनों से महाराज जी के आदेश से असहाय उदर पूर्ति अभियान जारी है।