मनरेगा कार्यो में जरूरतमंदों को मिले प्राथमिकता से रोजगार: जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्य मंत्री
जयपुर। जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री अर्जुनसिंह बामनिया ने कहा कि मनरेगा कार्यो में अधिक से अधिक श्रमिकों को रोजगार देने एवं योजना में चलाए जा रहे कार्यो को प्राथमिकता के साथ पूरा किया जाए।

 

बामनिया ने यह निर्देश बुधवार को बांसवाड़ा जिला कलेक्ट्रेट परिसर स्थित गोविन्द गुरू विश्व विद्यालय सभागार में बांसवाड़ा एवं छोटीसरवन पंचायत समितियों के कनिष्ठ तकनीकी सहायक एवं सहायक अभियंताओं की बैठक में दिए। उन्होंने बैठक में अनुपस्थित रहने वाले कनिष्ठ तकनीकी सहायकों को नोटिस देने के निर्देश जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को दिए।

 

उन्होंने कनिष्ठ तकनीकी सहायकों एवं सहायक अभियंताओं से कहा कि ग्राम पंचायत क्षेत्र में मांग के अनुरूप जरूरतमंद लोगों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराने का कार्य पूरी प्राथमिकता के साथ किया जाए ताकि जरूरतमंद लोगों को रोजगार मिलने से उनका दैनिक जीवन यापन आसानी से चल सके।

 

उन्होंने बैठक में मनरेगा के श्रम नियोजन, जोब कार्ड, डिमाण्ड, मस्टरोल आदि की समीक्षा की तथा सम्बन्धित ग्राम पंचायत के कनिष्ट तकनीकी सहायक से कार्य में किसी तरह की लापरवाही नही बरतने के निर्देश दिए। 

 

बैठक में बामनिया ने विकास अधिकारी श्री दलिप सिंह को मनरेगा योजना में स्वीकृत कार्यो में श्रम नियोजन के तहत अधिक से अधिक लोगों को लाभन्वित करने को कहा। 

 

सोशल डिस्टेन्स की गंभीरता से हो पालना

 

जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्य मंत्री ने कनिष्ठ सहायकों एवं सहायक अभियंताओं से कहा कि मनरेगा योजना में अधिक से अधिक लोगों को रोजगार देकर लाभान्वित किया जाए साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण की परिस्थितियों को देखते हुए सोशल डिस्टेन्स की पालना पूरी गंभीरता के साथ करवाई जाए। 

 

उन्होंने कहा कि मनरेगा कार्यो पर श्रमिकों के लिए पेयजल एवं छाया के समुचित प्रबन्ध किए जाए ताकि श्रमिकों को गर्मी के मौसम में किसी तरह की दिक्कत ना हो। उन्होेंने मनरेगा कार्यो पर आने वाले श्रमिकों के लिए मास्क एवं सेनेटाईजर की व्यवस्था आवश्यक रूप से किए जाने को कहा। 

 

बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गोविन्दसिंह राणावत ने कनिष्ठ तकनीकी सहायकों एवं सहायक अभियंताओं से राज्यमंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों की अक्षरशः पालना की जाए इसमें किसी प्रकार की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।