नरेन्द्र मोदी सरकार का आत्मनिर्भर भारत का संकल्प, भारत की आत्मा: कटारिया

जयपुर।  नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने वीडियो काँफ्रेस के माध्यम से पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आत्मनिर्भर भारत का संकल्प भारत की आत्मा है। 


कटारिया ने कहा की संकट के इस समय में भारत सरकार ने देश के हर वर्ग के लिए 20 लाख 97 करोड़ का आर्थिक पैकेज जारी किया आज़ाद भारत के इतिहास में किसी भी संकट के समय सरकार द्वारा जारी किया गया ये अब तक का सबसे बड़ा पैकेज है । इस पैकेज में समाज के हर वर्ग के उत्थान के लिए धनराशी जारी की गई है। सूक्ष्म, लघु, और मध्यम कंपनियों को 3 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज दिया गया, इनमें और ज़्यादा से ज़्यादा कम्पनियाँ शामिल हो इसके लिए इनका दायरा बढ़ाया गया। इनको संबल देकर इनमें काम करने वाले लाखों मजदूरों के रोज़गार और उनके हितों की रक्षा की रेडी ठेले पर काम करने वालों के लिए 10 हज़ार रुपए के लोन का प्रावधान किया गया, जिसके लिए 5 हज़ार करोड़ का प्रावधान किया गया। किसान क्रेडिट कार्ड के ज़रिए किसानों को 2 लाख करोड़ का ऋण दिया जाएगा। उसके अलावा भी किसान नाबार्ड से क़र्ज़ ले सकेंगे, इसके लिए 30 हज़ार करोड़ का प्रावधान किया गया मनरेगा के श्रमिकों के लिए मूल बजट के अलावा 40 हज़ार करोड़ का अतिरिक्त प्रावधान किया गया गरीब कल्याण के लिए 1 लाख 70 हज़ार करोड़ का प्रावधान किया गया । स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 15 हज़ार करोड़ का प्रावधान किया गया हैं। 


कटारिया ने कहा की सरकार ने राहत के कामों के लिए 42 हज़ार करोड़ रुपए राज्यों को दिए, राजस्थान के मुख्यमंत्री माँग कर रहे थे की राज्यों के क़र्ज़ लेने की सीमा बढ़ाई जाए, भारत सरकार ने क़र्ज़ लेने की राज्यों की सीमा को जीडीपी के 3 प्रतिशत से बढ़ा कर 5 प्रतिशत कर दिया। इससे राज्य 4 लाख 82 करोड़ रुपए का अधिक क़र्ज़ ले पाएँगे राजस्थान में भी भारत सरकार ने उज्ज्वला योजना के फ्री रिफ़िलिंग, किसान सम्मान निधि में 2 हज़ार रुपए, जनधन के खातों में 500 रुपए प्रतिमाह डाले, प्रवासी मज़दूरों को राशन और सहायता की, इसके अलावा भी अलग-अलग मद में भारत सरकार ने सहायता पहुँचाई है। 


कटारिया ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चुनौती देते हुए कहा की मुख्यमंत्री अनर्गल बयानबाज़ी करने के बजाय, ये बता दे की उनके 50 साल के शासन में आज तक किसी भी संकट के समय मदद के लिए उनकी सरकारों ने कभी इतना बड़ा पैकेज दिया हो तो बताएँ 50 सालों से उनको कैश में पैसा लेने की आदत पड़ी हुई है, नरेन्द्र मोदी सरकार ने सीधे लाभार्थी के खातों में पैसा डाल कर इनका कमीशन बंद कर दिया, इसका दर्द है । कोरी बयानबाज़ी करने से कुछ नहीं होगा मुख्यमंत्री भारत सरकार से मिली सहायता को नीचे तक पहुँचा कर आम आदमी की मदद करें। 


कटारिया ने कहा की देश के लोगों का दर्द समझ कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जो 20 लाख करोड़ रुपए से ज़्यादा का आर्थिक पैकेज जारी किया है इसके लिए उनका अभिनंदन करते है।