नेहरू युवा केंद्र से जुड़ी युवतियों ने ढाई लाख फेसमास्क बांटे


जयपुर। कोरोना के खिलाफ जंग में युवतियां भी वॉरियर बनकर मास्क बनाने से लेकर आमजन को जागरूक करने जैसे काम में जी-जान से जुटी हुई हैं। नेहरू युवा केन्द्र संगठन के निर्देशन में राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक और यूथ क्लबसे जुड़ी महिला कार्यकर्ता सिलाई-कटाई के अपने हुनर का उपयोग जरूरतमंदों के लिए फेसमास्क बनाने में कर रहीं हैं।


राज्य की करीब सौ युवतियों ने अपने-अपने समूह के माध्यम से ढाई लाख से अधिक फेसमास्क तैयार कर लोगों में बांटे हैं। जिन व्यक्तियों कोफेसमास्क दिये गए, उनमें मनरेगाकार्यों पर काम कर रहे मजदूर, हाथ ठेले वाले, गरीब, बुजुर्ग, बच्चे और महिलायें शामिल हैं। कई स्थानों पर युवतियाँमास्क बनाने का प्रशिक्षण भी दे रही हैं। इसके लिए मास्क बनाने के वीडियो समस्त महिला मण्डलों को भेजे जा रहे हैं। 


नेहरू युवा केंद्र संगठन के राज्य निदेशक डॉ भुवनेश जैन ने बताया कि राज्य के 33 जिलों के करीब चार हजार गांवो में महिला मण्डलों के साथ-साथ युवा मण्डल सक्रिय रूप से मास्क बनाने के अभियान में जुटा है।भीलवाडा में युवा मंडलों से जुड़ी युवतियों के प्रयासों से पांच हजार से अधिक मास्क तैयार कर बाँटेगए हैं। डुंगरपुर में तीन हजार से अधिक मास्क बनाकर वितरित किए गए हैं। बीकानेर में 16 हजार मास्क तैयार किए गए हैं।बाड़मेर में आठ सौ मास्क तैयार कर गांवों में वितरित किये गए हैं। जैसलमेर जिले में आठ हजार मास्क तैयार कर बांटे गए है।


भरतपुर में महिलाओं ने बीस हजार मास्क तैयार कर बांटे हैं। सीकर और झुंझनू में करीब चालीस हजार मास्क तैयार कर बांट गये।चुरू में करीब तीस हजार मास्क जिले भर में तैयार कर बंटवाये गए हैं।अजमेर में करीब छब्बीस हजार मास्क तैयार कर जरूरतमंदोमें वितरित किए गए।जयपुर में बाईस हजार पांच सौ फेसमास्क तैयार कर बांटे गये हैं।हनुमानगढ में आठ हजार फेसमास्क तैयार किये गए हैं। श्रीगंगानगर,सवाई माधोपुर,बूंदी,टौक औरदौसा में भी मास्क बनाने का काम हो रहा है।