पटवारी की अनोखी पहल - कोरोना वायरस की मुक्ति तक गाँव को गोद लिया

जयपुर महामारी कोरोना से निपटने के लिए हर संभव उपाय जारी है। सरकार और स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ आम व्यक्ति भी इसमें अपनी क्षमता के अनुसार योगदान कर रहा है। ऐसा ही एक शख्स है बाड़मेर जिले का एक पटवारी अशोक सिंह चारण जिन्होंने इस मुश्किल दौर में जिले के एक गाँव को गोद लेकर मिसाल कायम की है।


चारण ने एक अनोखी पहल करते हुए कोरोना वायरस के खात्मे तक जिले के एक गाँव को गोद लिया है। इसके लिए उन्होंने बाड़मेर तहसील की उण्डखा पंचायत के पूनड़ो की बस्ती गाँव को चुना है। उन्होंने गांव के लोगों को भरोसा दिलाया है कि उनके हर सुख दु:ख में वे उनके साथ है तथा हमेशा गांव के हित में कार्य करेंगे। गोद लेने के बाद उन्होंने सबसे पहले बाड़मेर स्थित नंदी गौशाला को एक गाड़ी चारे के लिए  ₹ 25000/- का चैक बाड़मेर के विधायक को सौंपा।


पटवारी चारण ने बाड़मेर के उपखंड अधिकारी नीरज मिश्र को लिखे पत्र में कहा कि  कोरोना की मुक्ति तक वे पूनड़ो की बस्ती के लोगों के लिए काम करते रहेंगे। इसमें जरूरतमन्द व्यक्तियों को खाद्य सामग्री के किट बांटना, पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था करना, पक्षियों को चुग्गा-पानी उपलब्ध कराना जैसे सामाजिक हित के काम शामिल हैं। उन्होंने गाँव की प्याऊ में वाटर कूलर लगाने की घोषणा भी की है जिसका सभी ग्रामवासियों ने स्वागत किया है।