शुक्रवार शाम तक 11 फ्लाइटों में 1343 प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचे, एयरपोर्ट पर अधिकारियों की टीम मुस्तैद - एसीएस उद्योग
जयपुर। वंदे भारत मिशन के तहत शुक्रवार को अलमाटी से एआइ 1958 फ्लाइट से 98 अध्ययन कर रहे प्रवासी राजस्थानी बच्चे जयपुर पहुंचे तो दुबई से जयपुर आई फ्लाइट आईएक्स 1196 से 180 प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचे। मिशन के तहत शुक्रवार को ही देर रात 11 बजे कुबेत से आ रही फ्लाइट में 150 राजस्थानी प्रवासी जयपुर पहुंच रहे हैं।

 

अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि आज की जयपुर में शुक्रवार सायं तक आई फ्लाइट सहित 11 फ्लाइटों में करीब 1343 प्रवासी राजस्थानी जयपुर आ चुके हैं। इनमें कजाकिस्तान और अलमाटी से 4 फ्लाइटों में इन देशों में अध्ययन कर रहे बच्चों को जयपुर लाया जा चुका है। देर रात आने वाली फ्लाइट में करीब 150 लोग कुबेत की फ्लाइट से जयपुर आ रहे हैं।

 

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि विदेश से आने वले सभी प्रवासियों का एयरपोर्ट पर सेनेटाइजेशन,  थर्मल स्केनिंग, मेडिकल चैकअप, इमीग्रेशन आदि की व्यवस्था के साथ ही बस द्वारा 7 दिन के संस्थागत क्वारंटाइन के लिए भेजा जा रहा है। इसके बाद 7 दिन होम क्वारंटाइन पर रहना होता है। उन्होंने बताया कि एयरपोर्ट पर आरोग्य सेतु व राजकोविड एप डाउनलोड करवाया जा रहा है।

 

एयर पोर्ट पर क्वारंटाइन अधिकारी बिरधी चंद गंगवाल, एसीपी मालवीय नगर महेन्द्र कुमार शर्मा, पर्यटन विभाग के उपनिदेषक उपेन्द्र सिंह शेखावत, रीको के डीजीएम तरुण जैन, उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. निर्मल जैन के नेतृत्व में डॉ. धनेश्वर व चिकित्सकों की टीम, जिला प्रषासन के अधिकारी आदि व्यवस्थाओं को संचालन कर रहे हैं। संस्थागत क्वारंटाइन के लिए तीन कैटेगरी में होटल में भिजवाने की व्यवस्था की गई है। एयरपोर्ट पर 20-20 की संख्या में थर्मल स्केनिंग, पांच मेडिकल जांच काउंटरों पर मेडिकल जांच, सोशल डिस्टेंस की पालना, आवश्यकता होने पर बीएसएनएल की सीम, तीन काउंटरोेें पर संस्थागत क्वारंटाइन होटल और पांच काउंटरों पर इमिग्रेशन का कार्य किया जा रहा है।

 

एयरपोर्ट पर सभी प्रवासियों के लिए चाय, काफी, बिस्कुट, पीने के पानी आदि की निःशुल्क व समुचित व्यवस्था की गई है। एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा अवेयरनेस फिल्मों का प्रदर्शन और स्टेण्डियों का प्रमुखता से प्रदर्शन किया गया है।