अभ्यारण की सीमा निश्चित होने से व्यवसाय पर आए संकट के बादल छंटे: सांसद दीयाकुमारी


राजसमन्द। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा कुम्भलगढ़ और टाडगढ़ अभ्यारण की सीमा निर्धारण की राजकीय अधिसूचना जारी हो जाने की खुशी में मार्बल माईन्स ऑनर्स एसोसिएशन ने केलवा स्थित कार्यालय पर सांसद दीयाकुमारी का भावभीना स्वागत अभिनन्दन किया। 

 

स्वागत कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि अभ्यारण की सीमा निर्धारित हो जाने से मार्बल और होटल व्यवसाय पर आए संकट के बादल छंट गए है। अभ्यारण की सीमा से होटल व टूरिज़्म 1 किमी व खदान 5 किमी के दायरे से बाहर संचालित करने के आदेश से व्यवसाय को गति मिलेगी। 5 किलोमीटर का दायरा कम करने से कई रुके हुए कार्य वापस शुरू हो पाएंगे वहीं रोजगार की प्रचुरता भी बढ़ेगी। 

 

वर्तमान स्थिति पर चर्चा करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि कोरोना के कारण आर्थिक गतिविधियों पर थोड़ी रुकावट आयी है लेकिन धीरे धीरे स्थितियां वापस नियंत्रण में आ जाएगी। फिर भी हमें सरकार के दिशा निर्देशों और निर्धारित सामाजिक मापदंडों का पूर्णत पालन करते हुए आम व्यक्ति तक स्वयं को सुरक्षित रखने का संदेश पहुंचाना चाहिए। सांसद ने कहा कि रोजगार का सीधा सम्बन्ध व्यवसाय से है। अभ्यारण की सीमा निर्धारित हो जाने से पर्यटन व्यवसाय में भी रोजगार के अवसर बढ़े हैं। 

 

सांसद ने सफलता का श्रेय क्षेत्र की जनता को देते हुए कहा कि यह सब जनता जनार्दन के आशीर्वाद और विश्वास का फल है और इसी से नित नई ऊर्जा का संचार होता है। कार्यक्रम के दौरान मार्बल, कटर, फेल्सफ़ार व्यवसायियों ने जीएसटी, रॉयल्टी और माईन्स सेफ्टी से सम्बंधित आ रही समस्याओं को लेकर ज्ञापन देते हुए समाधान की मांग रखी। इस दौरान एसोसिएशन अध्यक्ष गौरव सिंह राठौड़, मार्बल व्यवसायी करणवीर सिंह राठौड़, मानसिंह बारहठ, लवेश मादरेचा, बाबूलाल कोठारी, मधुसूदन व्यास, तनसुख बोहरा, गिरीश अग्रवाल ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए सांसद का स्वागत किया।

 

मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि स्वागत कार्यक्रम से पूर्व 11 बजे भीम विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत कुशलपुरा में नरेगा कार्यों का निरीक्षण कर पौधरोपण किया तथा श्रमिकों को मास्क व सैनिटाइजर का वितरण किया। इस दौरान पूर्व विधायक हरि सिंह रावत, जयेंद्र सिंह रावत, कुलदीप सिंह ताल, लादू लाल जोशी, किशन सिंह रावत, पूरन सिंह चुंडावत व अन्य कार्यकर्तागण मौजूद रहे।