अधिकारी फील्ड विजिट कर करें समस्याओं का समाधान: जिला कलक्टर
शहर में टेंकर्स से जलापूर्ति की लाइव लोकेशन जिला प्रशासन से साझा करने के निर्देश, बाढ़ नियंत्रण कक्ष अविलम्ब स्थापित करने, वाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रचर्स की मरम्मत के निर्देश, नालों की सफाई का जायजा लेगी जिला प्रशासन की टीम

 

जयपुर, 15 जून। जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम ने विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारियों को अधिक से अधिक फील्ड विजिट कर उनके विभाग से सम्बन्धित समस्याओें के समाधान के निर्देश दिए हैं। उन्होेंने सोमवार को जिला कलेक्ट्रेट में पीएचईडी, नगर निगम, चिकित्सा विभाग, जेडीए, वन विभाग, खनिज विभाग, जेवीएनएल एवं अन्य विभागों के अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक निर्देश प्रदान किए। उन्होंने 15 जून तक कई विभागाें में बाढ नियंत्रण कक्ष शुरू नहीं होने पर नाराजगी प्रकट करते हुए अविलम्ब नियंत्रण कक्ष खोले जाने के निर्देश दिए।

 

डॉ.जोगाराम ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जयपुर शहर के अलावा जिले की अन्य तहसीलों, ब्लॉक्स में भी अधिकारी फील्ड विजिट करें। कोविड-19 के कारण उनके विभागों से सम्बन्धित आमजन के कई काम पेंडिंग हो सकते हैं अथवा उनमें कुछ समस्याएं आ सकती हैं।

 

जिला कलक्टर ने पीएचइडी के अधिकारियों को शहर में टेंकर्स के जरिए की जा रही जलापूर्ति के दौरान उनके डेशबोर्ड पर उपलब्ध टेंकर्स की लाइव लोकेशन की जानकारी जिला प्रशासन को देने के निर्देश दिए। साथ ही लगातार जल गुणवत्ता बनाए रखने के लिए समय-समय पर सैम्पल लेने को कहा। उन्होंने कच्ची बस्तियों में सीवरेज लाइन एवं जलापूर्ति लाइन के परीक्षण के निर्देश दिए ताकि मानसून के समय लीकेज के कारण जल प्रदूषण की शिकायत नहीं आए। उन्होने आकस्मिक जलापूर्ति के लिए विधानसभा क्षेत्रवार दी गई 25 लाख की राशि के सम्बन्ध में विधायकगण से सम्पर्क कर प्रस्ताव जल्द से जल्द प्राप्त करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।

 

उन्होेंने नगर निगम, जेडीए एवं अन्य विभागों द्वारा अब तक बाढ़ नियंत्रण कक्ष नहीं खोले जाने एवं मानसून के सम्बन्ध में पिछली बैठक में दिए गए निर्देशों की पालना नहीं किए जाने पर नाराजगी प्रकट करते हुए अविलम्ब ये नियंत्रण कक्ष खोलने को कहा। हालांकि कुछ विभागों ने बताया कि उनके यहां ये नियंत्रण कक्ष स्थापित कर लिए गए हैं। उन्होंने नगर निगम के नालों की साफ-सफाई का काम धीमा चलने के सम्बन्ध में आ रही शिकायतों पर नगर निगम अधिकारियों को इस कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने इन नालों की सफाई के कार्य की वस्तुस्थिति के परीक्षण के लिए निगम के जोन उपायुक्त एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों के संयुक्त निरीक्षण के निर्देश दिए। 

 

जिला कलक्टर ने जेडीए अधिकारियों को नालों की सफाई एवं वहां के अवरोध हटाने के सम्बन्ध में अब तक की गई कार्यवाही के बारे में जिला प्र6ाासन को जानकारी देने के निर्देश दिए। साथ ही नगर निगम एवं जेडीए को शहर में अब तक बनाए गए वाटर हार्वेटिंग स्ट्रक्चर्स की सूची सौंपने एवं इन स्ट्रक्चर्स की सफाई एवं मरम्मत की जानकारी देने को कहा।

 

जिला कलक्टर ने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से वर्तमान में जयपुर शहर में कोविड-19 संक्रमण जांच, सैम्पल्स की संख्या, वर्तमान में रोग मुक्त हुए मरीज, पॉजिटिव मरीज, इंफेक्शन दर में वृद्धि की जानकारी ली एवं आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने पीएचसी आधार पर सैम्पल के लिए बनाए गए कलैण्डर की जानकारी जिला प्रशासन को देने को कहा। 

 

जयपुर विद्युत वितरण निगम को पेंडिंग हजार से ज्यादा शिकायतों का त्वरित निस्तारण करने, माइनिंग के अधिकारियों को अवैध बजरी खनन एवं परिवहन के खिलाफ की गई कार्यवाही की जानकारी देने, पशुपालन विभाग के अधिकारियों को पिछले वर्ष हुई त्रासदी को देखते हुए सांभर झील की स्थिति पर मानसून पूर्व से ही नजर बनाए रखने, वन विभाग को पौध वितरण के लिए ऑनलाइन डेटा के साथ जेडीए एवं अन्य विभागों द्वारा पौध वितरण का डेटा भी देने के निर्देश जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम ने बैठक में दिए। 

 

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम इकबाल खान, तृतीय राजेन्द्र सिंह कविया, चतुर्थ अशोक कुमार, पूर्व राजीव पांडेय , नॉर्थ बीरबल सिंह एवं विभिन्न विभागों के प्रतिनिधि शामिल हुए।