अन्य राज्य में आवागमन पर नियंत्रण, वॉर रूम की बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश


बारां। जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव की अध्यक्षता में कोरोना आपदा के तहत दैनिक वॉर रूम की बैठक मिनी सचिवालय सभागार में आयोजित हुई बैठक में कोरोना संकट के तहत जिले में विभिन्न व्यवस्थाओं के संबंध में चर्चा कर अधिकारियों को निर्देश दिए गए।



कलक्टर राव ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण से प्रभावित कुछ क्षेत्रों में ऐहतियात के तौर पर जीरो मोबिलिटी लागू की गई है जिसकी पालना सुनिश्चित की जानी चाहिए जिससे संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि जीरो मोबिलिटी क्षेत्रों में जिला प्रशासन द्वारा आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है यदि कहीं कोई कमी रह जाती है तो इस संबंध में कन्ट्रोल रूम एवं संबंधित अधिकारियों को सूचित किया जा सकता है जिससे समस्या का निस्तारण किया जा सके। बैठक में नॉन एनएफएसए एवं चयनित विशेष श्रेणी के गेहूं व चने का वितरण, पेयजल व विद्युत की निर्बाध आपूर्ति, टिड्डी प्रकोप सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर संबंधित विभागों को निर्देश दिए गए।



बैठक में जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशानुसार कोरोना आपदा के तहत व्यक्तियों के अन्तर्राज्यीय आवागमन पर नियंत्रण किया गया है और इस संबंध में विस्तृत निर्देश जारी किए गए है।



राज्य में व्यक्तियों का आगमन -
कलक्टर राव ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार राज्य में अन्य राज्यों से आने वाले व्यक्तियों के लिए निर्धारित उड़ान, टेªन व बस के तहत ऐसे व्यक्ति निर्धारित सुरक्षात्मक प्रोटोकॉल के पश्चात ही यात्रा करने हेतु अनुमत है इनकी हवाई अड्डा, रेलवे स्टेशन व बस स्टेण्ड पर पुनः स्क्रीनिंग की जावे। सड़क मार्ग से निजी बस, टेक्सी व निजी परिवहन से आने वाले व्यक्तियों की बोर्डर पर चेक पोस्ट स्थापित कर स्क्रीनिंग की जाए एवं व्यक्तिगत पहचान पत्र भी चेक किए जाने चाहिए।



राज्य के बाहर व्यक्तियों का प्रस्थान -
कलक्टर राव ने बताया राज्य के बाहर यात्रा करने के लिए व्यक्तियों को पास की आवश्यकता रहेगी और यह पास कलक्टर, पुलिस आयुक्त, पुलिस उपायुक्त, जिला पुलिस अधीक्षक, उपखंड मजिस्टेªट, उपाधीक्षक पुलिस, स्थानीय पुलिस स्टेशन से प्राप्त किए जा सकेंगे।



इसी क्रम में जिला प्रशासन द्वारा हवाई अड्डा, रेलवे स्टेशन एवं बस स्टेण्ड पर एक काउंटर स्थापित किया जाएगा जहां से भी आवश्यक सत्यापन के बाद यात्रा के लिए तत्काल पास जारी किया जा सकेगा। लेकिन जो व्यक्ति वहां पर पास बनवाना चाहता है उसको यात्रा के प्रस्थान से काफी समय पूर्व पहुंचना होगा। इस स्थानों पर यात्रा संबंधी स्क्रीनिंग भी की जाएगी। जो व्यक्ति राज्य के बाहर सड़क मार्ग से प्रस्थान कर रहे हैं उनकी स्क्रीनिंग एवं पास व पहचान पत्र का सत्यापन बोर्डर चेकपोस्ट पर किया जाएगा। इसी क्रम में जो व्यक्ति 10 जून 2020 को निर्धारित उड़ान, रेल व रोडवेज बस से पूर्व आरक्षण के माध्यम से यात्रा कर रहे हैं उनके दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा व पास की आवश्यकता नहीं होगी। विशेष निजी आपातकालीन स्थिति स्वयं के परिवार के मृत्यु, एक्सीडेन्ट अथवा अस्पताल में भर्ती की स्थिति में सत्यापन किया जाएगा पास की आवश्यकता नहीं होगी।



कंट्रोल रूम कार्यरत-
कोरोना आपदा के तहत जिला मुख्यालय कलेक्ट्रट पर एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है जिसका दूरभाष नंबर क्रमशः 07453-237081 व 07453-230451 है। कन्ट्रोल रूम के प्रभारी अधिकारी एडीएम बारां हैं जिनका मोबाईन नंबर 97845-44844 है। आमजन इस नंबर पर कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी सूचना प्राप्त कर सकते हैं एवं सूचना दे सकते हैं।


 

मिड-डे-मील का गेहूं हस्तान्तरण के आदेश

जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव के अनुसार शासन सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग राजस्थान सरकार जयपुर के निर्देशानुसार प्रवासी एवं विशेष श्रेणी के व्यक्तियों के लिए 2 माह का गेहूं 5 किलो प्रति यूनिट के हिसाब से किया जाना है।
जिले में उक्त श्रेणी के 11530 परिवारों का डाटा ऑनलाईन किया गया है, जिनके 4 व्यक्तियों का परिवार मानते हुए यूनिट के संख्या 41289 बनती है। इस प्रकार 5 किलो प्रति यूनिट के हिसाब से 2 माह के आवंटित गेहूं की मात्रा 412.89 मैट्रिक टन होती है, जिसमें से भारत सरकार से 342 मैट्रिक टन गेहूं निशुल्क प्राप्त हुआ है, शेष 70.89 मैट्रिक टन गेहूं की अतिरिक्त आवश्यक रहेगी। वर्तमान में मिड-डे-मील में 850 मैट्रिक टन गेहूं उपलब्ध है, जिसमें से वांछित 70.89 मैट्रिक टन गेहूं जिला रसद अधिकारी द्वारा उपलब्ध कराए गए रोस्टर के अनुसार पात्र व्यक्तियों को वितरित करने हेतु मिड-डे-मील मद से नॉन एनएफएसए मद में हस्तान्तरण के आदेश दिए जाते है। राज्य सरकार द्वारा भविष्य में जब भी उक्त मिड-डे-मील के उपयोग में लिए गए गेहूं के स्थान पर अन्तर्विभागीय हस्तान्तरण योग्य राशि प्राप्त होने पर अलग से राशि के ट्रांसफर बाबत आदेश जारी किए जाएंगे। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक अपने स्तर पर जिला रसद अधिकारी को कुल 70.89 मैट्रिक टन गेहूं उपलब्ध करावें। उक्त आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होंगे।


 

शिशु गृह का संचालन प्रारंभ

सहायक निदेशक बाल अधिकारिता राकेश वर्मा के अनुसार जिला मुख्यालय पर राजकीय सम्प्रेषण एवं किशोर गृह, आमापुरा में राजकीय विशेषज्ञ दत्तक ग्रहण एजेन्सी (शिशु गृह) का कार्यालय संचालित कर दिया गया है। यह एजेन्सी जिले में बच्चों के दत्तक ग्रहण संबंधी प्रावधानों के तहत अनाथ, परित्यक्त, समर्पित नवजात शिशुओं को दत्तक ग्रहण स ग्रहण में देने की कार्यवाही सम्पादित करेगी। जिले में नवजात शिशुओं को परित्यक्त अथवा समर्पित करने का मामला सामने आने पर कृपया 1098 चाईल्ड लाईन पर फोन लगाकर सूचित करने का श्रम करें।