पाकिस्तानी एजेन्ट को गोपनीय सूचना देने के 2 आरोपी अभिरक्षा में

जयपुर। राज्य विषेष शाखा द्वारा राजस्थान में विभिन्न सैन्य ठिकानों पर सेना की गतिविधियों की अतिगोपनीय व संवेदनषील सूचना पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी से साझा करने के संदेह में गंगानगर एफ.ए.डी. में कार्यरत् सिविल डिफेंसकर्मी (ट्रेडमैन) विकास तिलोतिया निवासी किसारी, मंडावा, जिला झून्झूनु और महाजन फील्ड फाॅयरिंग रेंज बीकानेर में कार्यरत संविदाकर्मी चिमनलाल नायक निवासी अजीतमाना, बीकानेर को संयुक्त पूछताछ केन्द्र में लाकर पूछताछ की गई।



अतिरिक्त महानिदेषक पुलिस, इन्टेलीजेंस, राजस्थान उमेष मिश्रा ने बताया कि दोनों संदिग्धों की गतिविधियों की निगरानी, पूछताछ और इनके पास मिले मोबाईल फोनों की जांच में इन दोनों व्यक्तियों द्वारा सोषल मीडिया का प्रयोग कर सामरिक महत्व की गोपनीय सूचनायें पाकिस्तानी एजेण्ट को उपलब्ध कराने की पुष्टि होने पर सोमवार को विषेष पुलिस थाना, जयपुर पर धारा 3, 3/9 शासकीय गुप्त बात अधिनियम 1923 में अभियोग दर्ज कर दोनों आरोपियों विकास व चिमनलाल को अभिरक्षा में लिया गया है।



मिश्रा ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में विकास तिलोतिया द्वारा जासूसी कर गोपनीय जानकारी देने के ऐवज में स्वयं एवं अपने परिजनों के बैंक खातों में धन प्राप्त करने की पुष्टि हुई है। इस सम्बन्ध में आगामी अनुसंधान किया जा रहा है। विकास, चिमन तथा विकास के एक परिजन से विभिन्न एजेन्सियों द्वारा पूछताछ की जा रही हैं।



उल्लेखनीय है कि उक्त संदिग्धों की गतिविधियों की प्राथमिक विषिष्ट सूचना एम.आई. लखनऊ द्वारा राज्य विषेष शाखा, राजस्थान को दी गई थी, जिसे संयुक्त रूप से विकसित कर यह कार्यवाही अंजाम दी गई है।