राजस्थान रोडवेज का यात्री भार 71 प्रतिशत हुआ

जयपुर। राजस्थान रोडवेज का दिनांक 5 जून 2020 को बढ़कर  71 प्रतिशत  पहुंचा। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नवीन जैन ने बताया 3 जून को राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन  शुरू किया 3 दिन बाद ही 17965 यात्रियों ने यात्रा की तथा यात्रीभार 71 प्रतिशत रहा ।जो   रोडवेज पर यात्रियों का विश्वास बढ़ने का प्रतीक है राजस्थान रोडवेज ई-मेल पर लोगों से नये मार्गों पर बस चलाने के लिए राय ली जा रही जिससे यात्रियों की सुविधाओं में और बढ़ोतरी की जा सके ।
 
राजस्थान रोडवेज 8 जून 2020 से 18 नये मार्गों पर 86 ट्रिप भी संचालित


राजस्थान रोडवेज के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक नवीन जैन ने बताया कि लोगों की मांग को देखते हुए वर्तमान में चल रहे रूटों के अतिरिक्त  08.06.2020 से 18 रूटों पर 84 ट्रीप और संचालित  करेगा इन सभी रूटों पर ऑनलाईन टिकिट राजस्थान रोडवेज कि बेवसाईट www.rsrtconline.rajasthan.gov.in पर  उपलब्ध करादी गई है।ऑन लाईन बुकिंग पर  5 प्रतिशत कैश बैक का लाभ ले सकते हैं। साथ ही यदि आप ऑनलाईन टिकिट नहीं करा पाते हैं तो सम्बन्धित बस स्टेण्ड पर टिकिट काउन्टर से या बस के अन्दर बैठ कर परिचालक से भी टिकिट ले सकते हैं। बस में सवारियां केवल अनुमत बैठक क्षमता तक ही बैठाई जावेंगी। यात्रियों को समय पर पहुंच कर यात्रा करने की सलाह दी जाती है। यात्रा के समय मास्क अनिवार्य रूप से तथा साथ में सेनेटाईजर ले जाने की सलाह दी जाती है।


राजस्थान रोडवेज की मोक्ष कलश स्पेशल निःशुल्क बस सेवा आज15 शहरों से


संवेदनशील  राजस्थान सरकार के निर्देशानुसार आज राजस्थान रोडवेज की मोक्ष कलश स्पेशल निःशुल्क बस सेवा आज गंगानगर, अलवर, बांरा, जयपुर, बीकानेर, बाड़मेर, भीलवाड़ा, जालौर, बूंदी, सरदारशहर, दौसा, अनूपगढ़, हनुमानगढ़, झुंझुनू एवं चूरू से संचालित की गई।


राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक श्री नवीन जैन ने बताया कि मोक्ष कलश यात्रा स्पेशल निःशुल्क बस आज गंगानगर,अलवर,बांरा ,जयपुर ,बीकानेर ,बाड़मेर ,भीलवाड़ा ,जालौर,बूंदी ,सरदारशहर ,दौसा ,अनूपगढ़ ,हनुमानगढ़ , झुंझुनू एवं चूरू से 433 यात्री एवं 296 मोक्ष कलश हरिद्वार भिजवाए गये।


राजस्थान रोडवेज की मोक्ष कलश स्पेशल निःशुल्क बस सेवा दिनांक 25.05.2020 से आज रात्रि तक उदयपुर, जोधपुर, नागौर, चुरू, करौली, झन्झुनू, सवाईमाधोपुर, पाली, भरतपुर, बून्दी, बीकानेर, अजमेर, अलवर, गंगानगर, सीकर, हनुमागढ, टोंक, बांरा, फलौदी, चित्तौडगढ, कोटा, झुन्झुनू, व जयपुर से 2190 मोक्ष कलश लेकर 4300 यात्रियों को हरिद्वार के लिये भेजा गया है। 


क्या है मोक्ष कलश स्पेशल निःशुल्क बस सेवा


लॉक डाउन के कारण बहुत से लोग अपने परिजनो की अस्थियों को गंगा में विसर्जित नहीं कर पाये। माननीय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशों पर राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम ऐसे लोगो के लिये मोक्ष कलश स्पेशल निःशुल्क  बसें चला रहा है। इस बस में प्रत्येक मोक्ष कलश के साथ दो लोगो को निःशुल्क यात्रा करने की छूट है। जो उसी बस में वापसी लाने की व्यवस्था की हुई है। मोक्ष कलश स्पेशल बसे  प्रदेश के अलग-अलग शहरों से हरिद्वार के लिये संचालित की जा रही है।