सामान्य स्वास्थ्य सेवाओं में आए अन्तर को पूरा करने के लिए पूरी प्लानिंग के साथ स्वास्थ्य लक्ष्यों की पूर्ति में जुटें: जिला कलक्टर
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक, इम्यूनाइजेशन के लक्ष्य शत प्रतिशत हासिल करने के लिए और प्रयास करने को कहा, मोबाइल ओपीडी वैन का कलैण्डर पूर्व में ही जारी करने के निर्देश

 

जयपुर। जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम ने कहा है कि कोविड-19 के प्रसार की परिस्थितियों के कारण पिछले तीन माह में विभिन्न ब्लॉक में इम्यूनाइजेशन जैसे लोक स्वास्थ्य के अन्य सामान्य पैरामीटर्स के लक्ष्यों की पूर्ति में गैप आ गया है। इस अन्तर को पूरा करने और ब्लॉक में सम्पूर्ण चिकित्सा तंत्र को मजबूत करने के लिए सभी ब्लॉक सीएमएचओ को और ज्यादा मेहनत करनी होगी। 

 

डॉ.जोगाराम सोमवार को जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जिले के सभी ब्लॉक सीएमएचओ को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण का खतरा अभी बना हुआ है, लेकिन लोक स्वास्थ्य के अन्य लक्ष्यों को भी साथ-साथ पूरा करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अमूमन हर साल टीकाकरण का लक्ष्य शत-प्रतिशत हासिल किया जाता है। कई ब्लॉक्स में पिछली जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक के बाद से आशानुरूप लक्ष्य हासिल नहीं किए गए हैं। ऎसे में सभी ब्लॉक सीएचएचओ ब्लॉक लेवल पर एनएनएम, आशा या पीएचसी, सीएचसी इंचार्ज की बैठक में इसे गंभीरता से लेते हुए विशेष प्रयासों पर जोर दें।

 

जिला कलक्टर ने कहा कि मोबाइल ओपीडी वेन के रूप में उपयोगी स्वास्थ्य सेवाओं का आशानुरूप लाभ सभी ब्लॉक्स के ग्रामीण क्षेत्रों में मिले इसके लिए अतिरिक्त प्रयास किए जाने की जरूरत है। उन्होंने ओपीडी सेवा का कलैण्डर बनाकर और आमजन एवं जनप्रतिनिधयों को पूर्व सूचना के साथ इसे संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जमवा रामगढ ब्लॉक मेें मोबाइल वैन द्वारा उपलब्धता के बावजूद दवाओं का वितरण नहीं होने पर रजिस्टे्रशन कराने वाले मरीजों, सरपंचों से जानकारी लेकर मामले की रेण्डम चैकिंग करने और लापरवाही मिलने पर सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही करने के चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। 

 

 जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी भारती दीक्षित ने भी जमवा रामगढ ब्लॉक सीएमएचओ को हर दिन प्रातः 10 बजे से तीन बार जियोटेगिंग के साथ एक सप्ताह तक मोबाइल ओपीडी वैन की लोकेशन एवं लाभान्वितों की संख्या की जानकारी सीएमएचओ प्रथम को प्रेषित करने के निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर चतुर्थ अशोक कुमार, सीएमएचओ प्रथम नरोत्तम शर्मा, द्वितीय हंसराज भदालिया एवं चिकित्सा विभाग के अन्य अधिकारी शामिल हुए।

 

कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए रहें सतर्क

 

जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम ने कहा कि जिले में कोविड-19 की रोकथाम के लिए अच्छे प्रयास किए गए हैं लेकिन खतरा अभी बरकरार है। ऎसे में ग्रामीण क्षेत्रों में भी सभी ब्लॉक सीएमएचओ कोविड-19 के सभी प्रोटोकॉल की पालना करने में मुस्तैद रहें। उन्हें उनके क्षेत्र में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंंटर्स की व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के साथ ही अब बनाए गए कोविड केयर सेंटर्स में भी व्यवस्थाएं किसी भी परिस्थिति के लिए हर समय दुरूस्त रखनी होंगी। तुलनात्मक रूप से प्रवासियों के अधिक सैम्पल्स लेने पर भी ध्यान देना होगा। सारा बैकअप प्लान पहले से ही तैयार रहे ताकि आवश्यकता होने पर समुचित प्रबन्धन संभव हो सके। उन्होंने जयपुर शहर में भी दोनों सीएमएच को आवश्यकतानुसार निर्धारित संख्या में कोविड सैम्पल्स टेस्टिंग की दर बनाए रखने के निर्देश दिए।