संघ ने हुतात्माओं को किया नमन, चीनी सामान  के बहिष्कार का आह्वान


जयपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने पूर्वी लददाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सोमवार रात भारत व चीनी सैनिकों में हुई हिंसक झड़प के हुतआत्माओं को श्रद्धावनत किया है। संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत और सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी के संयुक्वत वक्तव्य में कहा गया है कि "राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ देश की प्रभुसत्ता, अखंडता एवं आत्मसम्मान की रक्षा हेतु लद्दाख के गलवान घाटी क्षेत्र में सीमाओं की रक्षा करते हुए सर्वोच्च बलिदान देकर वीरगति को प्राप्त करने वाले सैनिकों को श्रद्धावनत नमन करता है। 


उन्होंने कहा कि सैनिकों के परिवारजनों को देशवासियों की ओर से सांत्वना प्रकट करते हैं। चीन की सरकार व सेना के इस आक्रमण एवं हिंसक कृत्य कि हम कठोर निंदा करते हैं। संकट की इस घड़ी में हम सभी भारतवासी पूर्णतया भारतीय सेना व सरकार के साथ हैं। आज प्रातः ऑनलाइन समन्वय मिलन में चीन सीमा पर बलिदान हुए सभी भारतीय सैनिकों को एक मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई जिसमें क्षेत्र संघचालक डॉ रमेशचन्द्र क्षेत्र प्रचारक निंबाराम एवं प्रांत कार्यवाह गेंदालाल जी सहित 25 संगठनों के कार्यकर्ता उपस्थित थे। 


संघ के जिला स्तर पर श्रद्धांजलि  देने का कार्यक्रम चल रहे हैं। साथ ही स्वदेशी जागरण मंच के नेतृत्व में चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अभियान के सक्रियता से जुड़ेगा।