67 फ्लाइट्स से बुधवार तक दस हजार से अधिक प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचे-एसीएस उद्योग

जयपुर। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया है कि वंदे भारत मिशन व चार्टर फ्लाइटोें के माध्यम से 30 जून तक 63 फ्लाइट से 9600 से अधिक प्रवासी राजस्थानी जयपुर आ गए हैं। बुधवार को रात तक आ रही चार फ्लाइट्स के बाद 10 हजार 300 से अधिक प्रवासी राजस्थानी पहुंच जाएंगे। बुधवार को तीन चार्टर फ्लाइट और एक वंदे भारत मिशन फ्लाइट सहित चार फ्लाइटों से दो बच्चों सहित 704 प्रवासी राजस्थानी देर रात तक जयपुर एयर पोर्ट पहुंच रहे हैं। विदेशों से आने वाले प्रवासियाें के संस्थागत क्वारंटाइन के लिए जयपुर में चिन्हित 40 होटलों व जयपुर विकास प्राधिकरण के क्वारंटाइन सेंटर के साथ ही अब दौसा, सीकर, झुन्झुनू, चुरु और नागौर में भी क्वारंटाइन सेंटर चिन्हित करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

एसीएस उद्योग डॉ. अग्रवाल ने बताया कि उदयपुर संभाग के प्रवासी राजस्थानियों की फ्लाइट को सीधे ही उदयपुर लैण्ड कराने का प्रस्ताव हैं। वहीं उदयपुर संभाग के प्रवासियोें को उदयपुर, राजसमंद, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा और चित्तोडगढ़ जयपुर से रोडवेज की बसों से भेजा जा रहा है। इन प्रवासियों की संंबंधित जिलों में क्वारंटाइन व्यवस्था की संभागीय आयुक्त उदयपुर विकास भाले मोनेटरिंग कर रहे हैं। उदयपुर संभाग के सभी जिलाें में संस्थागत क्वारंटाइन की आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के साथ ही करीब एक हजार प्रवासियों को संस्थागत क्वारंटाइन कराया जा रहा है।

 

बुधवार को तीन चार्टर फ्लाइटस में रस अल खैमाह की फ्लाइट से 200, कुवेत की दो फ्लाइट से 145 और 177 प्रवासी राजस्थानी आए हैं वहीं देर रात वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से आने वाली फ्लाइट में दो बच्चों सहित 182 प्रवासी राजस्थानी जयपुर आ रहे हैं। जयपुर एयरपोर्ट में फ्लाइट के आते ही हेल्थ प्रोटोकाल की पालना करते हुए 20-20 की संख्या में लाने, लगेज सहित सेनेटाइज करने, थर्मल स्केनिंग, मेडिकल चैक अप, इमिग्रेशन आदि के बाद संस्थागत क्वारंटाइन के लिए भेजा जा रहा है। अन्य जिलों के प्रवासियों को रोडवेज की बसों से भिजवाया जा रहा है। एयरपोर्ट पर चाय, काफी, पानी की व्यवस्था के साथ ही बसाेंं में भी आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

 

एयरपोर्ट में फ्लाइट के आने के समय अधिकारियों की टीम मुस्तेद रहती है। संयुक्त निदेशक मेडिकल डॉ. एसके भण्डारी,उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. निर्र्मल जैन, डॉ. धनेश्वर शर्मा और इनकी पूरी मेडिकल टीम द्वारा थर्मल स्केनिंग से लेकर मेडिकल चेकअप तक की सेवाएं दी जा रही है। जयपुर एयरपोर्ट पर क्वारंटाइन अधिकारी बीसी गंगवाल, उपनिदेशक पर्यटन उपेन्द्र सिंह शेखावत और इनकी टीम व रीको की डीजीएम तरुण जैन आदि द्वारा संस्थागत क्वांरटाइन की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं। जेडीए, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन के अधिकारी एयरपोर्ट में व्यवस्थाओं को देख रहे हैं।