वरिष्ठ पत्रकार नारायण बारेठ बने सूचना आयुक्त

 डीबी गुप्ता बने राज्य के नये मुख्य सूचना आयुक्त

जयपुर। राजस्थान को आज नये सूचना आयुक्त मिल गये हैं. पूर्व मुख्य सचिव डी बी गुप्ता  को राज्य का नया सूचना आयुक्त  बनाया गया है. राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) ने शुक्रवार को गुप्ता को राज्य के मुख्य सूचना आयुक्त के रूप में नियुक्ति प्रदान कर दी है. राज्यपाल ने इसके साथ ही वरिष्ठ पत्रकार नारायण बारेठ और शीतल धनखड़ को सूचना आयुक्त के रूप में नियुक्ति प्रदान करने के भी आदेश जारी कर दिये हैं.


नारायण बारेठ लंबे समय से पत्रकारिता से जुड़े हैं. वे लंबे समय तक बीबीसी में अपनी सेवायें दे चुके हैं. वे पत्रकारों के सशक्त संगठन जार के भी प्रदेश महामंत्री रहे हैं। इसके साथ साथ हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय में भी शिक्षक के रूप में सेवाएं दे चुके हैं। शीतल धनखड़ कांग्रेस नेता रणदीप धनखड़ की पुत्री हैं. वे पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ की भतीजी हैं. उन्होंने एमजीडी और लेडी श्रीराम कॉलेज दिल्ली से शिक्षा प्राप्त की है. वर्तमान में सामाजिक कार्यकर्ता हैं.

राज्य सूचना आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त के अलावा सूचना आयुक्तों के 4 पद सृजित हैं. वर्तमान में आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त और दो आयुक्तों के पद खाली थे. सूचना आयुक्त के शेष दो पदों पर आरपी बरवड़ और लक्ष्मण सिंह राठौड़ कार्यरत हैं. अब मुख्य सूचना आयुक्त समेत दो नए आयुक्तों की नियुक्ति से आयोग का कोरम पूरा हो गया है. आपको बता दे कि आयोग में अधिकतम 10 सूचना आयुक्त हो सकते हैं.

मुख्य सूचना आयुक्त के लिए डीबी गुप्ता का नाम काफी समय से चल रहा था. गुप्ता का कार्यकाल 3 साल का होगा. वे दिसंबर 2023 तक मुख्य सूचना आयुक्त पद पर रहेंगे. मुख्य सूचना आयुक्त की नियुक्ति 3 वर्ष या 65 साल की उम्र जो भी पहले हो के लिए होती है. गुप्ता राज्य के चौथे मुख्य सूचना आयुक्त बने हैं. यह पद दिसंबर 2018 से रिक्त चल रहा था. सुरेश चौधरी के सेवानिवृत्त होने के बाद से ही यह पद रिक्त था. चौधरी के बाद तत्कालीन सूचना आयुक्त आशुतोष शर्मा कार्यवाहक मुख्य सूचना आयुक्त रहे थे. शर्मा भी हाल ही में सेवानिवृत्त हुए हैं. उनके बाद आर पी बरवड़ को कार्यवाहक मुख्य सूचना आयुक्त बनाया गया था. प्रदेश में अब तक एमडी कोरानी, टी. श्रीनिवासन और सुरेश चौधरी मुख्य सूचना आयुक्त रह चुके हैं.