19 से 27 जून तक लेह लद्दाख में होगा प्रथम सिंधु महाकुंभ, मुकेश लख्यानी सिंधु दर्शन यात्रा के जिला संयोजक

हिमालय परिवार की बैठक में दी जानकारी, राजस्थान से दो हजार यात्री शामिल होंगे।


जयपुर। सिंधु दर्शन यात्रा के 25 वर्ष पूर्ण होने पर हिमालय परिवार द्वारा 19 से 27 जून तक लेह लद्दाख में प्रथम सिंधु महाकुंभ का आयोजन होगा। प्रथम सिंधु महाकुंभ में देशभर से दो चरणों में सिंधु दर्शन यात्रा निकलेगी। प्रथम चरण की यात्रा में राजस्थान प्रदेश से दो हजार से अधिक यात्री शामिल होंगे। सिंधु महाकुंभ को लेकर आयोजित हिमालय परिवार की बैठक में यह जानकारी संगठन के केन्द्रीय महामंत्री दिलबागसिंह जसरोटिया व विधायक वासुदेव देवनानी ने दी। 

उन्होंने बताया कि यात्रा को लेकर प्रदेशवासियों में काफी उत्साह है। इच्छुक यात्रियों का यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन हो जाए यह सब प्रयास सब कार्यकर्ताओं का रहे।

केन्द्रीय महामंत्री जसरोटिया ने बताया कि प्रथम सिंधु महाकुंभ के लिए प्रथम चरण की यात्रा 19 जून से 23 जून तक महाकुंभ के रूप में सिंधु नदी के तट पर लेह लद्दाख में होगी। यात्रा तीन स्थानों से निकल रही है। प्रथम यात्रा चंडीगढ से मनाली होते हुए लेह लद्दाख सिंधु नदी तट पर पहुंचेगी। चार दिन सिंधु नदी में स्नान, पूजा पाठ व भ्रमण करने के बाद कश्मीर होते हुए जम्मू में समाप्त होगी। दूसरी यात्रा जम्मू से प्रारंभ होकर कश्मीर भ्रमण करते हुए लेह लद्दाख सिंधु नदी पर स्नान, पूजा पाठ व भ्रमण करने के पश्चात मलानी होते हुए चंडीगढ समाप्त होगी। तीसरी यात्रा दिल्ली हवाई जहाज से लेह लद्दाख पहुंचेगी और लेह लद्दाख सिंधु नदी पर स्नान, पूजा पाठ व भ्रमण करने के बाद वापस दिल्ली पहुंचकर समाप्त होगी। बैठक के दौरान मुकेश लख्यानी को सिंधु दर्शन यात्रा का जिला संयोजक का दायित्व दिया गया। इस दौरान आचार्य नर्बदाशंकर, सेवानिवृत आईपीएस भैंरूसिंह गुर्जर, आलोक आत्रे, महेश कानूनगो, दिवाकर सेन समेत संगठन के पदाधिकारी उपस्थित रहे।